In association with
S M L

ओडिशा के इस 'माउंटेन मैन' ने पहाड़ काटकर 8 किमी सड़क बनाया

जालंधर नायक खुद कभी स्कूल नहीं गए लेकिन वो चाहते थे कि उनके बच्चे स्कूल जाकर पढ़ें-लिखें. मगर स्कूल तक जाने के लिए पहाड़ की मुश्किल चढ़ाई करनी पड़ती थी. इसी ने उन्हें पहाड़ काटकर सड़क बनाने की प्रेरणा दी

FP Staff Updated On: Jan 14, 2018 03:43 PM IST

0
ओडिशा के इस 'माउंटेन मैन' ने पहाड़ काटकर 8 किमी सड़क बनाया

बिहार के 'माउंटेन मैन' दशरथ मांझी की ही तरह ओडिशा में एक शख्स ने अपनी हिम्मत और मेहनत से नामुमकिन को मुमकिन कर दिखाया है.

कंधमाल जिले के गुमसाही गांव के रहने वाले जालंधर नायक ने पहाड़ काटकर 8 किलोमीटर लंबा रास्ता बनाया है. नायक ने 2 साल तक अकेले लगातार काम कर पहाड़ को काटकर सड़क बना डाला.

 

जालंधर नायक ने केवल हथौड़ा और छेनी से कंधमाल पहाड़ को काटकर 8 किलोमीटर लंबी सड़क बना डाली है. सब्जी बेचकर गुजारा करने वाले नायक खुद तो कभी स्कूल नहीं गए लेकिन वो चाहते थे कि उनके तीन बच्चे फूलबानी के स्कूल में जाकर पढ़ें-लिखें. मगर स्कूल तक जाने के लिए पहाड़ की मुश्किल चढ़ाई करनी पड़ती थी. इसी ने उन्हें सड़क बनाने के लिए प्रेरित किया.

 

जालंधर नायक का लक्ष्य इस सड़क को बढ़ाकर 15 किलोमीटर ले जाना है.

इलाके के खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) एस के जेना का कहना है कि जालंधर नायक को हर तरह की सरकारी मदद दी जाएगी. वो जहां रहते हैं वो आबादी से काफी दूर है. हमने उन्हें शहर आकर रहने को कहा था लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया है. नायक को सम्मानित किया जाएगा या नहीं इस पर अभी फैसला लिया जाना बाकी है.

 

बिहार के गया जिले के गल्हौर गांव के रहने वाले दलित दशरथ मांझी ने 360 फुट लंबी, 30 फुट चौड़ी और 25 फुट ऊंचे पहाड़ को काट कर सड़क बना डाली थी.

गांव में कोई अस्पताल या चिकित्सा केंद्र नहीं होने से दशरथ मांझी की पत्नी की इलाज के अभाव में मौत हो गई थी. इसके बाद मांझी ने वर्षों तक मेहनत कर पथरीले पहाड़ को काटकर सड़क बना दिया था.

दशरथ मांझी की इस कठिन तपस्या पर बाद में बॉलीवुड में एक फिल्म भी बनी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi