S M L

ओडिशा और कोणार्क मंदिर पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पत्रकार अभिजीत मित्रा को विधानसभा ने माफ किया

सितंबर में, अय्यर-मित्रा ने पूर्व बीजेडी सांसद बैजयंत पांडा के साथ कोणार्क तक तटीय ओडिशा के एक हिस्से की हेलिकॉप्टर से यात्रा की थी. इसके बाद अय्यर-मित्रा के ट्विटर पर कोणार्क के सूर्य मंदिर और ओडिशा की उत्पत्ति पर आपत्तिजनक बयान देखे गए

Updated On: Nov 17, 2018 09:44 PM IST

FP Staff

0
ओडिशा और कोणार्क मंदिर पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पत्रकार अभिजीत मित्रा को विधानसभा ने माफ किया

भुवनेश्वर की झारपाड़ा जेल में सेशन्स जज द्वारा जमानत याचिका खारिज होने के बाद, ओडिशा विधान सभा ने शनिवार को पत्रकार अभिजीत मित्रा को माफ करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया. मित्रा ने कथित रूप से राज्य के विधायकों और कोणार्क सूर्य मंदिर के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी. अय्यर-मित्रा को दो एफआईआर के बाद 23 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था. एक एफआईआर कोणार्क मंदिर पर टिप्पणी के लिए और दूसरी भुवनेश्वर में एक कथित व्यंग्यात्मक वीडियो के लिए दायर की गई थी. इन्हें मित्रा ने 16 सितंबर को ट्विटर पर पोस्ट किए थे.

पुलिस ने आईपीसी की धारा 153ए (धर्म के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना), 295ए और 298 (किसी भी व्यक्ति या वर्ग की धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने या दुखी करने के इरादे से किए गए कृत्यों या शब्दों को अपराधी बनाना), और 34 (सामान्य इरादे के आगे कई लोगों द्वारा किए गए कृत्यों) के तहत केस दर्ज किया है.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इसके पहले मित्रा भुवनेश्वर में ओडिशा विधानसभा में विधायकों की एक ऑल पार्टी कमिटि के सामने उपस्थित हुए और अपनी टिप्पणियों के लिए उन्होंने माफ़ी मांगी. उन्होंने कहा, 'मैं अपनी मूर्खता के लिए माफी मांगता हूं.'

विधानसभा ने जांच के लिए कमिटि बनाई:

विपक्ष के नेता और समिति के अध्यक्ष नरसिंह मिश्रा ने इस बात की पुष्टि की. पिछले महीने, ओडिशा विधानसभा अध्यक्ष प्रदीप अमत ने अय्यर-मित्रा की कथित अपमानजनक टिप्पणी विशेषाधिकार का उल्लंघन है या नहीं इसकी जांच के लिए एक विशेष समिति बनाने की मंजूरी दी थी. समिति की अध्यक्षता नेता प्रतिपक्ष मिश्रा द्वारा की गई थी. इसमें के वी सिंह देव, देबी मिश्रा, प्रमिला मलिक, अरुण साहू और संजय दास बर्मा शामिल थे.

सितंबर में, अय्यर-मित्रा ने पूर्व बीजेडी सांसद बैजयंत पांडा के साथ कोणार्क तक तटीय ओडिशा के एक हिस्से की हेलिकॉप्टर से यात्रा की थी. पांडा खुद इस हैलिकॉप्टर को उड़ा रहे थे. इस हेलीकॉप्टर को कुछ दिन के बाद चिलिका झील पर कथित तौर पर लैंडिंग करने के कारण जब्त कर लिया गया. इसके बाद अय्यर-मित्रा के ट्विटर पर कोणार्क के सूर्य मंदिर और ओडिशा की उत्पत्ति पर आपत्तिजनक बयान देखे गए. कुछ बयान बेहद अपमानजनक थे और जनता के साथ साथ राजनीतिक पार्टियों ने भी इसका विरोध किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi