S M L

2050 तक समंदर में मछलियों से ज्यादा प्लास्टिक होगा

साल 2050 तक समंदर 850 मिलियन मीट्रिक टन प्लास्टिक होगा, वहीं इसकी तुलना में 821 मिलियन मीट्रिक मछलियां ही उपलब्ध होंगी

FP Staff Updated On: Apr 12, 2018 04:11 PM IST

0
2050 तक समंदर में मछलियों से ज्यादा प्लास्टिक होगा

प्लास्टिक की समस्या इतनी ज्यादा बढ़ती जा रही है कि अगर हालात ऐसे ही रहे तो साल 2050 तक समंदर में मछलियों से ज्यादा प्लास्टिक की मात्रा होगी. भारत के बड़े मरीन साइंटिस्ट्स ऐसा मानते हैं.

बुधवार को समुद्री कचरे के विषय पर हुए दो दिवसीय सेमिनार में सेंट्रल मरीन फिशरीज रिसर्च इंस्टीट्यूट की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. वी कृपा ने कहा कि वर्तमान स्थिति देखकर लगता है कि साल 2050 तक समंदर 850 मिलियन मीट्रिक टन प्लास्टिक होगा, वहीं इसकी तुलना में 821 मिलियन मीट्रिक मछलियां ही उपलब्ध होंगी.

उन्होंने कहा कि हर साल समंदर में प्लास्टिक कचरे की मात्रा बढ़ती जा रही है. और ऐसा होता रहा तो आने वाले सालों में समंदर में प्लास्टिक कचरा समुद्री जीवों से भी ज्यादा होगा, खासकर मछलियों को बहुत ज्यादा नुकसान होगा.

उन्होंने बताया कि हालिया रिसर्च में पता चला है कि समंदर में फिलहाल 50 लाख करोड़ प्लास्टिक कचरा है. इसमें से 2,69,000 टन समंदर की सतह पर है. जबकि गहरे समंदर में प्रति वर्ग किलोमीटर 4 बिलियन माइक्रो फाइबर हैं, जो और भी बड़ा खतरा हैं. अब सारडीन, टूना जैसी मछलियों और समुद्री पक्षियों में प्लास्टिक मिले हैं.

साइंस एडवांस, 2017 के डेटा के अनुसार, 2015 में इंसानों ने 407 मिलियन मीट्रिक टन के हिसाब से प्लास्टिक का उत्पादन हुआ था और इसमें से 302 मिलियन प्लास्टिक कचरे के रूप में समंदर में फेंक दिया गया. यानी ये सारा कचरा समंदर में कहीं बैठा हुआ है और ये बस एक साल का डेटा है.

'प्लास्टिक मैन ऑफ द इंडिया' के नाम से जाने जाने वाले डॉ. वासुदेव राजागोपालन ने कहा कि असली समस्या प्लास्टिक नहीं, उसका सही तरीके से निस्तारण न करना है. उन्होंने कहा कि प्लास्टिक का गलत तरीके से निस्तारण करने की वजह से जमीन और समुद्र में हमें प्राकृतिक संसाधनों का नुकसान झेलना पड़ रहा है.

डॉ. राजागोपालन ने टार में प्लास्टिक मिलाकर रोड जैसे कन्स्ट्रकशन करने का आइडिया दिया है. उनका कहना है कि अगर इस कचरे का इस तरीके से इस्तेमाल किया जाए, तो इससे प्लास्टिक इतना कम हो जाएगा कि भारत को बाहर से प्लास्टिक मंगवाने की जरूरत पड़ जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi