S M L

AC डिब्बों में ऊन की जगह मिलेंगे नायलॉन के कंबल, महीने में होगी दो बार धुलाई

रेलवे ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि अब दो महीने में एक बार धुलाई की बजाय हर महीने दो बार कंबलों को धोया जाएगा

FP Staff Updated On: Jun 26, 2018 09:34 PM IST

0
AC डिब्बों में ऊन की जगह मिलेंगे नायलॉन के कंबल, महीने में होगी दो बार धुलाई

रेलवे बोर्ड ने एक आदेश में कहा है कि ट्रेनों के वातानुकूलित (एसी) बोगियों में ऊनी कंबलों की जगह अच्छी गुणवत्ता वाले नायलॉन के कंबल मिलेंगे. आदेश में जोनों को इन कंबलों को हर दो महीनों में एक बार की जगह एक महीने में दो बार धोने का निर्देश भी दिया गया.

रेलवे बोर्ड द्वारा जारी संशोधित आदेश के अनुसार, एसी डिब्बों में यात्रियों को दिए जाने वाले कंबल साफ सुथरे तथा ग्रीस, साबुन या किसी अन्य चीज से मुक्त होने चाहिए ताकि वे कड़क रह सकें. 450 ग्राम वाले नए कंबल 60 प्रतिशत ऊनी और 15 प्रतिशत नायलॉन के बने होंगे.

रेलवे बोर्ड ने एसी डिब्बों के लिए उच्च गुणवत्ता वाले हल्के कंबल को हरी झंडी दिखाई है. फिलहाल 2.2 किलोग्राम वजन वाले कंबल छोटे आकार के हैं और इन्हें चार साल तक प्रयोग किया जाता है.

देश भर में लागू होने वाले इस योजना से जुड़े रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'वर्तमान में उपयोग होने वाले भारी ऊनी कंबल की कीमत 400 रुपए है. कपड़े में बदलाव के बाद अब नई कीमत जल्द ही तय की जाएगी.' कंबल की कीमत चूंकि पिछले 10 सालों में संशोधित नहीं की गई है, इसलिए बदले गए नियम के बाद अब इसकी लागत अधिक होने की उम्मीद है. रेलवे को देश भर में अपने एसी यात्रियों के लिए रोजाना 3.90 लाख कंबलों की जरूरत होती है.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi