S M L

पत्नी को सताने पर रद्द हो जाएगा एनआरआई पति का पासपोर्ट

आए दिन विदेश मंत्रालय में इससे संबंधित शिकायतें मिलती रहती थी, इसको देखते हुए मंत्रालय ने यह कदम उठाया है

Updated On: Sep 18, 2017 01:51 PM IST

FP Staff

0
पत्नी को सताने पर रद्द हो जाएगा एनआरआई पति का पासपोर्ट

विदेश में रहनेवाले भारतीय NRI पतियों का पत्नियों को सताना भारी पड़ सकता है. अब अगर वे ऐसा करेंगे तो उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया जाएगा. यही नहीं, इसके लिए उन्हें जेल भी जाना पड़ सकता है.

आए दिन विदेश मंत्रालय में इससे संबंधित शिकायतें मिलती रहती थी. इसको देखते हुए मंत्रालय ने यह कदम उठाया है. इससे पहले ऐसे मामलों में आरोपी को भारत लाकर कानून के तहत सजा दिलाना मुश्किल था.

हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक अब कोई अप्रवासी भारतीय अगर अपनी पत्नी के साथ किसी तरह का दुर्व्यवहार या हिंसा करता है तो उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया जाएगा.

इसके साथ ही यह भी प्रावधान किया गया है कि अगर महिला पति के खिलाफ घरेलू हिंसा, यौन हिंसा की शिकायत करती है तो उसे आर्थिक मदद के तौर पर 3-6 हजार डॉलर तक की मदद दी जाएगी. ताकि वह कानूनी लड़ाई लड़ सके.

नौ सदस्यों वाला पैनल करेगा इन मामलों की जांच 

मंत्रालय ने इसके लिए नौ सदस्यों वाली पैनल का गठन किया है, जो इन मामलों की जांच करेगा. इस पैनल के हेड रिटायर्ड जज अरविंद कुमार गोयल होंगे. वे पंजाब स्टेट कमिश्नर फॉर एनआरआई के चेयरमैन भी रह चुके हैं. पैनल का मनना है कि अगर घरेलू हिंसा, पत्नी को परेशान करना, दहेज के लिए शोषण करना जैसा कोई भी मामला सामने आता है तो पति को कानूनी कार्रवाई के लिए देश वापस लाया जाएगा.

विदेश मंत्रालय के पास इसका प्रस्ताव केंद्रीय महिला बाल विकास मंत्रालय ने भी भेजा था. संसद में इससे संबंधित मुद्दे कई बार महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी उठा चुकी हैं. उसके बाद ऐसे मामलों पर कार्रवाई का आश्वासन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दिया था.

साल 2014 में दर्ज किए गए थे 346 मामले 

रिपोर्ट के मुताबिक साल 2014 में कुल 346 मामले विदेश मंत्रालय के पास आए थे. ऐसे मामलों में पति अक्सर अपनी पत्नी का पासपोर्ट रख लेते हैं. उसके साथ मारपीट करते हैं, घर परिवार से संपर्क तक नहीं करने देते. पंजाब में इस तरह के सबसे अधिक मामले पाए गए हैं.

इस नियम के तहत यह भी तय किया गया है कि विदेश जाने से पहले पति को मैरिज सर्टिफिकेट हर हाल में जमा करना होगा. इसके साथ ही घर का पता, विदेश में कहां रहते हैं इसका पता सहित अन्य जरूरी सूचनाएं भी दर्ज करानी होंगी. ताकि ऐसी स्थिति आने पर उसे ट्रैक किया जा सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi