S M L

अपनी बीवियों को मारते-पीटते हैं NRI, घर पर फोन कर मदद मांगती हैं पत्नियां

हर 8 घंटे पर एक पीड़ित महिला का घर पर फोन आता है जिसमें वह घर लौटने की गुजारिश करती है

Updated On: Feb 05, 2018 04:27 PM IST

FP Staff

0
अपनी बीवियों को मारते-पीटते हैं NRI, घर पर फोन कर मदद मांगती हैं पत्नियां

अगर आप विलायती दामाद बहुत ज्यादा पसंद करते हैं तो एक बार यह खबर जरूर पढ़ लें. विदेश मंत्रालय का एक आंकड़ा बताता है कि एनआरआई से शादी रचाने वाली महिलाओं की तादाद ज्यादा है जो अपने साथ मारपीट की शिकायत करती हैं. हर 8 घंटे पर एक पीड़ित महिला का फोन घर पर आता है जिसमें वह देश लौटने की गुजारिश करती है.

आंकड़ों के मुताबिक 1 जनवरी 2015 से 30 नवंबर 2017 तक मंत्रालय को ऐसी 3,328 शिकायतें मिलीं. हिसाब लगाएं तो यह हर 8 घंटे पर एक बैठता है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर बताती है कि शिकायत करने वाली ज्यादातर महिलाएं पंजाब और आंध्र प्रदेश-तेलंगाना से हैं. इसके बाद गुजरात का स्थान आता है. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक कोऑपरेशन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट भी शादी बाद छोड़ दी गईं महिलाओं को लेकर कुछ ऐसी ही रिपोर्ट दे चुका है.

आंध्र प्रदेश से ऐसे मामले ज्यादा आ रहे हैं क्योंकि वहां आज भी दहेज प्रथा मजबूती के साथ चली आ रही है. विदेशों में रह रहे यहां के लड़के अपने मां-बाप को खुश करने हिंदुस्तान आते हैं और शादी भी कर लेते हैं. पर विदेश लौटने के बाद उनकी मंशा इन महिलाओं के साथ रहने की बिल्कुल नहीं रहती.

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, बहरीन से एक महिला ने कुछ इसी तरह का कॉल किया. उसकी शिकायत थी कि उसके पति ने विजा कागजातों को फाड़ दिया है और घर पर फोन भी नहीं करने देता.

विदेश मंत्रालय ने इन महिलाओं की मदद के लिए एक शिकायत निवारण पोर्टल 'मदद' शुरू किया है. इसके अलावा विदेशों में स्थित मिशन भी शिकायत ले रहे हैं और उसका निपटारा कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi