S M L

BJP युवा मोर्चा से जुड़े आरोपी ने कहा- इंस्पेक्टर हिंदुओं को नुकसान पहुंचाना चाहता था

बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी शिखर अग्रवाल ने भी एक वीडियो क्लिप जारी की है. जिसमें उन्होंने सुबोध सिंह के खिलाफ बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं

Updated On: Dec 06, 2018 02:16 PM IST

FP Staff

0
BJP युवा मोर्चा से जुड़े आरोपी ने कहा- इंस्पेक्टर हिंदुओं को नुकसान पहुंचाना चाहता था

बुलंदशहर में गोकशी की अफवाह फैलने के बाद भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में बजरंग दल का जिला अध्यक्ष योगेश राज समेत बीजेपी युवा मोर्चा के नेता शिखर अग्रवाल मुख्य आरोपी हैं. योगेश राज ने बुधवार को वीडियो जारी कर खुद को बेगुनाह बताया था. वहीं अब शिखर अग्रवाल ने भी एक वीडियो क्लिप जारी की है. जिसमें उन्होंने सुबोध सिंह के खिलाफ बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं.

बीजेपी युवा मोर्चा नेता ने कहा है कि सुबोध सिंह एक भ्रष्ट पुलिस अधिकारी थे और उन्होंने मुझे घटनास्थल पर गोली मारने की धमकी दी थी. योगेश और शिखर के अलावा 26 अन्य के खिलाफ भी सुबोध सिंह की हत्या को लेकर एफआईआर दर्ज है.

खुद को बेगुनाह बताते हुए अग्रवाल ने कहा, 'जब थाने के बाहर हंगामा हो रहा था, उस वक्त मैं थाने के अंदर था. हिंसा में मेरा कोई रोल नहीं है. अग्रवाल ने आरोप लगाए कि सुबोध सिंह और उनके साथियों ने उन्हें धमकी दी थी कि अगर उन्होंने गायों के कंकाल को नहीं दफनाया तो वो उन्हें गोली मार देंगे.'

अग्रवाल ने कहा, 'इलाके में ये बात सभी को पता है कि एसएचओ सुबोध सिंह कितने भ्रष्ट थे. वो मुस्मिल समुदाय के साथ मिलकर हिंदुओं की भावनाओं को आहत करना चाहते थे. उन्होंने मुझे धमकी दी थी कि अगर मैंने गाय के शवों को नहीं दफनाया या फिर लोगों को इस बारे में बताया, तो वो मुझे गोली मार देंगे.' योगेश राज और शिखर अग्रवाल दोनों के ही वीडियो में एक बात कॉमन है कि दोनों ने ही हिंसा के वक्त खुद को पुलिस थाने के अंदर ही बताया है. साथ ही दोनों में से किसी ने भी ये नहीं कहा कि उसने कई गायों का मांस पहले देखा था. दोनों ने ही दावा किया है कि लोगों ने उन्हें गायों के मांस की जानकारी दी है.

बता दें योगेश राज ने ही गोकशी की एफआईआर दर्ज करवाई थी. लेकिन वारदात के बाद से वह फरार चल रहा है, एडीजी लॉ एंड आर्डर आनंद कुमार भी मंगलवार को किए प्रेस कांफ्रेंस में योगेश राज का नाम लेने से बचते नजर आए. जबकि तहरीर में तीन बार योगेश राज का नाम लिखा है. वायरल वीडियो में भी योगेश राज मृतक इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह से बहस करता नजर आ रहा है. एडीजी ने अपने प्रेस कांफ्रेंस में किसी संगठन का भी नाम नहीं लिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi