S M L

बेंगलुरु: 600 करोड़ के फ्रॉड मामले में क्राइम ब्रांच के सामने जनार्दन रेड्डी हुए पेश

जनार्दन रेड्डी ने वीडियो जारी कर कहा, 'मैं बेंगलुरू में हूं और मीडिया के माध्यम से पूरे मामले पर निगाह बनाए हुए हूं'

Updated On: Nov 10, 2018 05:55 PM IST

FP Staff

0
बेंगलुरु: 600 करोड़ के फ्रॉड मामले में क्राइम ब्रांच के सामने जनार्दन रेड्डी हुए पेश
Loading...

कर्नाटक के अरबपति खनन कारोबारी जी जनार्दन रेड्डी शनिवार को क्राइम ब्रांच के सामने पूछताछ के लिए पहुंचे. अपराध शाखा ने 600 करोड़ रुपए के धोखाधड़ी मामले में एक दिन पहले उन्हें 11 नवंबर तक पेश होने के लिए नोटिस जारी किया था. क्राइम ब्रांच ने रेड्डी की गिरफ्तारी के लिए बेल्लारी स्थित उनके आवास पर छापेमारी भी की थी.

इससे पहले रेड्डी ने शनिवार को अपनी सफाई में एक वीडियो जारी किया था. जिसमें उन्होंने कहा कि वो हैदराबाद में नहीं छुपे हैं और बेंगलुरू में रह कर ही पूरे मामले पर निगाह बनाए हुए हैं.

वीडियो में उन्होंने कहा, 'मीडिया मुझे फरार बता रहा है, उनके मुताबिक मैं हैदराबाद में हूं. इसलिए मैंने इस वीडियो को अपने वकीलों के साथ बनाया है, ताकि मैं सभी संदेहों को स्पष्ट कर सकूं.' जनार्दन रेड्डी ने कहा, 'मैं बेंगलुरू में हूं और मीडिया के माध्यम से पूरे मामले पर निगाह बनाए हुए हूं. मुझे नोटिस मिला है इसलिए मैं खुद को पेश करूंगा और केंद्रीय अपराध शाखा के साथ सहयोग भी करूंगा.'

पुलिस के पास मेरे खिलाफ नहीं है कोई सबूत: रेड्डी

वीडियो में उन्होंने आगे कहा, 'मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है. पुलिस के पास मुझे गलत साबित करने के लिए एक भी दस्तावेज नहीं है. वे मीडिया को गुमराह कर रहे हैं.' रेड्डी ने कहा, 'मैंने इस वीडियो को लोगों को सच्चाई जानने के लिए बनाने का फैसला किया. मुझे पुलिस में विश्वास है और मानना है कि वे किसी भी राजनीतिक दबाव में नहीं आएंगे.'

बता दें कि केंद्रीय अपराध शाखा ने फरार चल रहे खनन कारोबारी गली जनार्दन रेड्डी को 11 नवंबर तक पेश होने का शुक्रवार को नोटिस जारी किया है. इस नोटिस से एक दिन पहले ही रेड्डी के बेल्लारी स्थिति आवास पर छापेमारी हुई थी. रेड्डी एक पोंजी योजना में कथित तौर पर करोड़ों रुपए की लेनदेन में वांछित हैं.

रेड्डी ने दायर की थीं दो याचिका

सीसीबी रेड्डी के करीबी सहयोगी अली खान की तलाश में है. खान ने अम्बीदंत मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के सैय्यद अहमद फरीद को प्रवर्तन निदेशालय की जांच से बचाने के लिए कथित तौर पर 20 करोड़ रुपए का सौदा किया था. इस कंपनी पर पोंजी योजना में शामिल होने का आरोप है.

रेड्डी ने कर्नाटक हाई कोर्ट में दो याचिका दायर की है. पहली याचिका रेड्डी पर प्राथमिकी खत्म करने की है.. याचिका में कहा गया है कि उन पर लगे आरोप आधारहीन हैं. वहीं दूसरी याचिका मामले की जांच से दो पुलिस अधिकारियों को हटाने के लिए है.

(भाषा से इनपुट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi