S M L

अहमदाबाद DCCB में नोटबंदी के दौरान नहीं हुआ अनुचित जमा: नाबार्ड

नाबार्ड ने बयान में कहा, ‘अहमदाबाद DCCB के कुल 17 लाख खातों में से महज 1.60 लाख खातों में पुराने नोट जमा किए गए या बदले गए जो सभी जमा खातों का महज 9.37 प्रतिशत है.’

Updated On: Jun 22, 2018 06:58 PM IST

Bhasha

0
अहमदाबाद DCCB में नोटबंदी के दौरान नहीं हुआ अनुचित जमा: नाबार्ड

अहमदाबाद जिला केंद्रीय सहकारी बैंक (DCCB) बैंक में नोटबंदी के दौरान भारी मात्रा में पुराने नोट जमा होने की खबरों के बीच नाबार्ड ने शुक्रवार को कहा कि नोटों की मात्रा बैंक के आकार के हिसाब से ठीक है और बैंक ने ‘ग्राहक को जानें’ संबंधी सभी प्रावधानों का पालन भी किया.

सहकारी बैंकों के विनियामक राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) की यह सफाई ऐसे समय में आई है जब अहमदाबाद DCCB में नोटबंदी के दौरान असामान्य रूप से भारी मात्रा में पुराने नोट जमा होने की खबरें सामने आई हैं. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह इस बैंक के निदेशक हैं.

नाबार्ड ने बयान में कहा, ‘अहमदाबाद DCCB के कुल 17 लाख खातों में से महज 1.60 लाख खातों में पुराने नोट जमा किए गए या बदले गए जो सभी जमा खातों का महज 9.37 प्रतिशत है.’ इन खातों के 98.94 प्रतिशत खातों में 2.5 लाख रुपए से कम राशि जमा कराई गई.

नाबार्ड द्वारा किए गए सत्यापन में पता चला कि अहमदाबाद DCCB में औसतन 46,795 रुपए प्रति खाता पुराने नोट जमा कराए गए जो गुजरात के 18 DCCB में जमा नोटों के औसत से कम है.

नाबार्ड ने कहा कि 10-14 नवंबर 2016 के दौरान 1.60 लाख उपभोक्ताओं ने बैंक में 746 करोड़ रुपए के पुराने नोट जमा कराए या बदले जो कि बैंक के कुल जमा का महज 15 प्रतिशत है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi