S M L

देश में कलाकारों को दबाया जा रहा है और पत्रकारों की आवाज को शांत किया जा रहा है: नसीरूद्दीन शाह

इस नए साल पर चलिए हम सब संवैधानिक मूल्यों के लिए खड़े हों और भारत की सरकार को कहें कि ये दमन अब बंद होना चाहिए

Updated On: Jan 04, 2019 10:32 PM IST

FP Staff

0
देश में कलाकारों को दबाया जा रहा है और पत्रकारों की आवाज को शांत किया जा रहा है: नसीरूद्दीन शाह

भारत में अपने बच्चों की सुरक्षा के बारे में दिए गए विवादित बयान के बाद नसीरुद्दीन शाह ने एक बार फिर से आरोप लगाया है कि देश में नफरत और घृणा फैल चुकी है.

शाह का ये बयान एमनेस्टी इंडिया ने अपने ट्वीटर हैंडल से शुक्रवार को ट्वीट किए 2.14 मिनट के वीडियो में दिखाया गया है.

वीडियो में शाह को यह आरोप लगाते दिखाया गया है देश में अब कलाकारों और अदाकारों को 'दबाया' जा रहा है और पत्रकारों की आवाज को 'शांत' किया जा रहा है. इसके साथ ही शाह ने यह आरोप भी लगाया कि अन्याय के खिलाफ जो भी खड़ा होता है, 'उनके ऑफिस में छापे मारे जाते हैं. उनके लाइसेंस कैंसिल कर दिए जाते हैं. बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए जाते हैं. उनकी आवाज को दबा दिया जाता है.'

एमनेस्टी इंडिया ने अपने विडियो के साथ ट्वीट करते हुए लिखा है- '2018 में भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और मानवाधिकारों के साथ खड़े रहने वालों का तेजी से दमन किया गया है. इस नए साल पर चलिए हम सब संवैधानिक मूल्यों के लिए खड़े हों और भारत की सरकार को कहें कि ये दमन अब बंद होना चाहिए.'

इसके पहले पिछले साल दिसंबर में नसीरूद्दीन शाह ने एक बयान दिया था जिसमें कहा था कि वो अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए चिंतित हैं. इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने उनकी खूब आलोचना की थी.

वहीं शाह के बयान पर अभिनेता इमरान हाशमी ने कहा कि, 'मैं अभी जो सोच रहा हूं उसे व्यक्त करने में सक्षम हूं. मुझे लगता है कि हमारे देश में बोलने की स्वतंत्रता है, मैं विवाद से थोड़ा अनभिज्ञ हूं. इसलिए, उस पर बोलना मेरे लिए थोड़ा गैर-जिम्मेदाराना होगा.'

ये भी पढ़ें:

अपने घर, अपने देश के बारे में चिंता जताना अपराध कब से हो गया: नसीरूद्दीन शाह

नसीरुद्दीन शाह के बचाव में आए अभिनेता आशुतोष राणा, कहा- किसी का सोशल ट्रायल नहीं होना चाहिए

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi