S M L

दिल्ली मेट्रो में 15 किलो से ज्यादा वजन लेकर सफर करना हुआ मना

डीएमआरसी के मुताबिक 20 मार्च से 15 किलो से ज्यादा वजन या लगेज लेकर यात्रा करने वाले लोगों को सुरक्षा जांच से लौटा दिया जाएगा

Updated On: Feb 06, 2018 11:12 AM IST

FP Staff

0
दिल्ली मेट्रो में 15 किलो से ज्यादा वजन लेकर सफर करना हुआ मना

अगर आप दिल्ली मेट्रो में भारी-भरकम सामान लेकर सफर करते हैं तो आपके लिए ये खबर बेहद जरूरी है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) ने 20 स्टेशनों पर 15 किलो से अधिक भारी या बड़े सामान के साथ एंट्री पर रोक लगाने का फैसला किया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार 20 मार्च से 15 किलो से ज्यादा वजन या लगेज लेकर यात्रा करने वाले लोगों को सुरक्षा जांच से लौटा दिया जाएगा. डीएमआरसी ने हाल ही में 5 चुनिंदा मेट्रो स्टेशनों पर सामानों की स्क्रीनिंग मशीनों के सामने U आकार के मेटल अवरोधक लगाए हैं. यह 15 किलो से ज्यादा भारी सामानों या बड़े लगेज को सुरक्षा जांच के दौरान ही लौटा देगा.

जिन मेट्रो स्टेशनों पर ये U आकार के मेटल अवरोधक लगाए गए हैं उनके नाम हैं- आनंद विहार, बाराखंभा रोड, कश्मीरी गेट, चांदनी चौक और शाहदरा. 20 मार्च से इन स्टेशनों पर सिर्फ 15 किलो तक के वजन वाले बैग, जिसकी ऊंचाई 25 सेंटीमीटर, लंबाई 60 सेंटीमीटर और चौड़ाई 45 सेंटीमीटर या उससे कम होगी उसके साथ एंट्री मिलेगी.

जल्दी ही 15 मेट्रो स्टेशनों पर लगाए जाएंगे U आकार के अवरोधक 

इन 5 स्टेशनों के बाद जल्दी ही और 15 मेट्रो स्टेशनों पर इस तरह के U मेटल  अवरोधक लगाए जाएंगे. डीएमआरसी आदर्श नगर, आजादपुर, बदरपुर, बॉटनिकल गार्डन, चावड़ी बाजार, दिलशाद गार्डन, गोविंदपुरी, हुडा सिटी सेंटर, इंद्रलोक, करोल बाद, लाल किला, नांगलोई, आर के आश्रम मार्ग, रिठाला और नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन पर ऐसे अवरोधक लगाए जाएंगे.

डीएमआरसी के प्रवक्ता ने बताया कि ऑपरेशंस एंड मेंटेनेंस एक्ट के तहत इस तरह के अवरोधक लगाए जा रहे हैं. जिसमें 15 किलो से ज्यादा भारी बैग और सामानों को सुरक्षा जांच से ही वापस कर दिया जाएगा.

यदि टोकन लेकर सफर करनेवाले यात्री को 15 किलो से ज्यादा वजन का सामान या लगेग के चलते रोका गया, तो वह काउंटर पर अपना टोकन लौटाकर रिफंड ले सकेगा.

डीएमआरसी के मुताबिक, दिल्ली मेट्रो में हर दिन 25 लाख से अधिक लोग सफर करते हैं. पीक आवर्स में मेट्रो ट्रेनों में भीड़ बढ़ जाती है. इस दौरान लोग अगर बड़े और वजनी सामान लेकर सफर करते हैं तो दूसरे यात्रियों को दिक्कत होती है. साथ ही सुरक्षा जांच में दिक्कत आने और स्कैनर मशीन भी खराब होने की शिकायतें बढ़ रही थी. इसे देखते हुए यह फैसला लिया जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi