S M L

भीष्म नारायण सिंह के रूप में देश ने एक बड़े व्यक्तित्व को खो दिया: नीतीश कुमार

असम और तमिलनाडु सहित विभिन्न राज्यों के राज्यपाल रहे सिंह का संक्षिप्त बीमारी के बाद नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में बुधवार को निधन हो गया

Updated On: Aug 02, 2018 12:35 PM IST

Bhasha

0
भीष्म नारायण सिंह के रूप में देश ने एक बड़े व्यक्तित्व को खो दिया: नीतीश कुमार

 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल और केंद्रीय मंत्री रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भीष्म नारायण सिंह के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है.
मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक शोक-संदेश में नीतीश ने कहा कि भीष्म नारायण सिंह के रूप में देश ने एक बड़े व्यक्तित्व को खो दिया है.

सिंह ने केन्द्रीय मंत्रिमंडल और अविभाजित बिहार में कई महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी का कुशलतापूर्वक निर्वहन किया था. उन्होंने हमेशा संसदीय लोकतंत्र की मजबूती की बात की. उनके निधन से राजनीतिक और सामाजिक क्षेत्रों में अपूरणीय क्षति हुई है.

85 वर्ष की आयु में हुआ निधन

असम और तमिलनाडु सहित विभिन्न राज्यों के राज्यपाल रहे सिंह का संक्षिप्त बीमारी के बाद नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में बुधवार को निधन हो गया. वह 85 वर्ष के थे.

सिंह के पुत्र उमाशंकर सिंह ने बताया कि वह दो महीने से बीमार थे. उनका अंतिम संस्कार गुरुवार को दिल्ली के लोधी रोड शमशान घाट पर किया जाएगा.

भीष्म नारायण सिंह मूल रूप से झारखंड के पलामू जिले के रहने वाले थे. वह आजीवन कांग्रेस से जुड़े रहे. 30 वर्ष तक वह अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य रहे.

सिंह अविभाजित बिहार के शिक्षा, खाद्य आपूर्ति और वाणिज्य मंत्री भी रहे. वह 1976 में राज्यसभा के लिए चुने गए. उन्होंने केंद्र में संसदीय कार्य, आवास, श्रम, खाद्य, नागरिक आपूर्ति और संचार मंत्री के रूप में काम किया. 1984 में उन्हें असम और मेघालय का राज्यपाल बनाया गया. बाद में वह सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और तमिलनाडु के राज्यपाल भी रहे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi