S M L

आसाराम की सजा पर निर्भया के परिवार ने जताई खुशी

निर्भया के दादा लाल जी सिंह ने अदालत के फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस फैसले से उनके कलेजे को ठंडक पहुंची है

FP Staff Updated On: Apr 25, 2018 05:58 PM IST

0
आसाराम की सजा पर निर्भया के परिवार ने जताई खुशी

नाबालिग से रेप के मामले में दोषी पाए गए आसाराम को जोधपुर की विशेष अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हुए 2012 में सामूहिक बलात्कार कांड की पीड़िता निर्भया के परिवार वालों ने खुशी का इजहार किया है. निर्भया के दादा लाल जी सिंह ने अदालत के फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस फैसले से उनके  कलेजे को ठंडक पहुंची है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली सामूहिक बलात्कार कांड के समय ही जब आसाराम ने निर्भया कांड के गुनाहगारों की वकालत करते हुए निर्भया को कसूरवार ठहराया था, तभी परिवार को एहसास हो गया था कि ‘आसाराम साधु के वेश में दरिंदा’ है.

क्या कहा था आसाराम ने

निर्भया कांड में गुनाहगारों के साथ-साथ पीड़िता को दोषी ठहराते हुए आसाराम ने कहा था कि क्या ताली एक हाथ से बज सकती है? उन्होंने कहा था कि पीड़िता आरोपियों को भाई कहकर बुला सकती थी इससे उसकी इज्जत और जान दोनों बच जाती.

क्या है निर्भया कांड

यही वो हमला था जिसने लोगों को अंदर तक झकझोर कर रख दिया था और लाखों की तादाद में लोग सड़कों पर उतर आए थे. दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 की रात एक चलती बस में पैरा-मेडिकल की एक छात्रा  के साथ गैंगरेप हुआ. उसके और उसके साथी के साथ बुरी तरह हिंसा भी हुई. अपराधी उन्हें महिपालपुर में घायल छोड़कर भाग निकले. कुछ दिनों इलाज चलने के बाद लड़की की मौत हो गई थी.  इस मामले में 6 लोग दोषी पाए गए थे. इस मामले में मुख्य आरोपी ने कुछ दिनों बाद जेल में आत्महत्या कर ली थी वही नाबालिग को 3 साल की सजा सुना दी गई थी. वहीं  अन्य आरोपियों को फांसी की सजा सुना दी गई थी.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi