S M L

NGT: गंगा के किनारों पर स्थित शहरों में प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध

आदेश का उल्लंघन करने वालों पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगेगा और गलती करने वाले अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी

Updated On: Dec 15, 2017 02:59 PM IST

Bhasha

0
NGT: गंगा के किनारों पर स्थित शहरों में प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध

अगर आपका घर या शहर गंगा नदी के किनारे है तो आप प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल (एनजीटी) ने गंगा नदी के किनारे स्थित हरिद्वार और ऋषिकेश जैसे शहरों में कैरी बैग, प्लेट और कटलरी जैसी प्लास्टिक से बनी चीजों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है.

एनजीटी अध्यक्ष जस्टिस स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली पीठ ने उत्तरकाशी तक इस तरह की चीजों की बिक्री, विनिर्माण और भंडारण पर भी रोक लगा दी.

हरित अधिकरण ने कहा कि आदेश का उल्लंघन करने वालों पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगेगा और गलती करने वाले अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

पूर्व में लगी रोक के बाद भी हो रहा है इस्तेमाल 

एनजीटी ने कहा कि पहले इससे संबंधिक आदेश दिए गए हैं. लेकिन इसका पालन नहीं किया जा रहा. पूर्व के आदेश के बावजूद इन क्षेत्रों में प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे गंगा नदी में प्रदूषण हो रहा है.

हरित इकाई पर्यावरणविद एमसी मेहता की याचिका पर सुनवाई कर रही थी. हाल ही में ट्रिब्यूनल ने यमुना के डूब क्षेत्र में पर्यावरण को हुए नुकसान के लिए आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर की संस्था को जिम्मेदार ठहराया था.

जस्टिस स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली बेंच ने अपने फैसले में कहा था कि इस नुकसान की भरपाई में जो खर्च आएगा उसे आर्ट ऑफ लिविंग को भरना होगा. श्री श्री रविशंकर ने पिछले साल तीन दिन के विश्व संस्कृति समारोह का आयोजन नई दिल्ली में यमुना नदी के किनारे किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi