S M L

NGT का निर्देश: दिल्ली में PM 10 और PM 2.5 जब बढ़े तब लागू हो ऑड-ईवन

एनजीटी ने दिल्ली सरकार से कहा कि ऑड-ईवन नियम से किसी को भी छूट नहीं मिले. दोपहिया वाहनों, गाड़ी चलाने वाली अकेली महिला चालकों और वीआईपी पर भी यह योजना लागू हो

Updated On: Nov 11, 2017 02:10 PM IST

FP Staff

0
NGT का निर्देश: दिल्ली में PM 10 और PM 2.5 जब बढ़े तब लागू हो ऑड-ईवन

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने दिल्ली में ऑड-ईवन नियम लागू करने को लेकर अपनी हरी झंडी दे दी है. एनजीटी ने शनिवार को कहा कि दिल्ली सरकार सशर्त रूप से कारों की ऑड-ईवन योजना लागू करने के लिए स्वतंत्र है.

अधिकरण ने इस योजना में किसी को भी छूट नहीं देने का निर्देश दिया है. उसने दिल्ली सरकार के दोपहिया वाहनों और गाड़ी चलाने वाली अकेली महिला को भी इसके दायरे में लाने को कहा है. एनजीटी ने किसी वीआईपी को भी इस योजना से रियायत नहीं देने को कहा है.

हालांकि सीएनजी वाहनों, एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड जैसी इमरजेंसी सेवाओं को ऑड-ईवन योजना से छूट है.

एनजीटी ने दिल्ली सरकार से कहा कि ऑड-ईवन योजना तब लागू करें जब पीएम 10 का स्तर 500 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर और पीएम 2.5 का स्तर 300 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर से ऊपर हो.

इससे पहले, एनजीटी ने सवाल उठाते हुए पूछा कि क्या यह योजना उप-राज्यपाल और दिल्ली सरकार दोनों की सहमति से लागू की जा रही है.

एनजीटी ने  दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार से पूछा जब वायु गुणवत्ता बेहद खराब थी, उस समय ऑड-ईवन योजना क्यों नहीं लागू की गई? अगर आप वायु गुणवत्ता में सुधार चाहते हैं तो इस योजना के तहत छूट का आधार क्या है?

एनजीटी ने सरकार से यह भी सवाल किया कि क्या ऑड-ईवन नियम किसी खास अधिकारी की मर्जी या विचार है या यह दिल्ली सरकार का विचार है?

वातावरण में प्रदूषण की सबसे अधिक मार बच्चों और बुजुर्गों पर पड़ती है

वातावरण में प्रदूषण बढ़ने से सबसे अधिक मार बच्चों और बुजुर्गों पर पड़ती है

एनजीटी ने कहा कि प्रदूषण घटाने के लिए ईपीसीए द्वारा सुझाए गए उपाय जैसे पार्किंग शुल्क बढ़ाना बेतुका है. यह कोई कारगर उपाय नहीं है, इससे पार्किंग वालों को फायदा पहुंचेगा. अधिकरण के अनुसार पार्किंग के भारी-भरकम चार गुना शुल्क से बचने के लिए लोग अपनी गाड़ियां सड़कों पर पार्क करेंगे जिससे रास्ता जाम होगा.

एनजीटी ने एनएचएआई, एनबीसीसी को नोटिस जारी कर पूछा कि निर्माण पर दिए गए उसके आदेशों को उल्लंघन करने के लिए उनपर मिसाल पेश करने वाला जुर्माना क्यों न लगाया जाए.

दिल्ली में ऑड-ईवन योजना अब तक दो बार लागू की गई है. वर्ष 2016 में यह योजना दो बार लागू की गई थी. इस साल 13 नवंबर से 17 नवंबर तक सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक यह योजना लागू रहेगी.

ऑड-ईवन योजना के तहत कारों के नंबर प्लेट पर दर्ज आखिरी संख्या के आधार पर उन्हें सड़कों पर चलने की अनुमति होगी. ऑड संख्या वाली कार केवल ऑड तारीख को चलेंगी जबकि ईवन संख्या वाली कार केवल ईवन तारीख को चल सकेंगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi