S M L

NCERT की किताबों में बड़ा 'राष्ट्रवादी' बदलाव, महाराणा प्रताप से लेकर बाजीराव तक शामिल

एनसीईआरटी ने 182 किताबों में जोड़ने, सही करने और डेटा अपडेट जैसे 1,334 बदलाव किए हैं

Updated On: May 30, 2018 01:26 PM IST

FP Staff

0
NCERT की किताबों में बड़ा 'राष्ट्रवादी' बदलाव, महाराणा प्रताप से लेकर बाजीराव तक शामिल

नई एनसीईआरटी की किताबों में कुछ बड़े बदलाव किए गए हैं. इसमें उन 'महान' लोगों को शामिल किया जा रहा है, जिनको लेकर बीजेपी और दक्षिणपंथी संस्थाओं ने दावा किया है कि देश के इतिहास से उनको दूर रखा गया है.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, हिस्ट्री (इतिहास) की नई किताब में आध्यात्मिक लीडर श्री अरबिंदो और स्वामी विवेकानंद से लेकर स्वतंत्रता सेनानी लाला लाजपत राय, वल्लभभाई पटेल, पेशवा बाजीराव बल्लाल, सुरज मल, महाराणा प्रताप से लेकर छत्रपति शिवाजी तक को शामिल किया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस ने छठी से लेकर 10वीं तक की पांच विषयों (हिस्ट्री, जियोग्राफी, पॉलिटिकल साइंस, साइंस और इंग्लिश) की रिवाइज्ड किताबों की तुलना की है. इस विश्लेषण के मुताबिक, रिवाइज्ड किताबों में स्वामी विवेकानंद और श्री अरबिंदो के बारे में अधिक विस्तार से बताया गया है. 8वीं की हिस्ट्री की किताब में हमारा इतिहास-III, पार्ट II में श्री अरबिंदो और राष्ट्रीय शिक्षा के लक्ष्य को लेकर उनके विचारों के बारे में बताया गया है.

एनसीईआरटी ने 182 किताबों में जोड़ने, सही करने और डेटा अपडेट जैसे 1,334 बदलाव किए हैं. इनमें से सबसे ज्यादा 573 बदलाव साइंस, 316 सोशल साइंस और 163 बदलाव संस्कृत की किताबों में किए गए हैं.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मदरसों में धर्म संबंधी किताबों को छोड़कर पाठ्यक्रम में समय के अनुरूप बदलाव करके उसे ‘सुव्यवस्थित’ किये जाने की बात सामने आई थी. यहां मदरसों में एनसीईआरटी की किताबों के जरिए छात्रों को शिक्षा दी जाएगी. राज्य मदरसा बोर्ड ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है. इस पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि मदरसों में अब एनसीईआरटी की किताबों से पढ़ाई होगी. इन मदरसों में अब आधुनिक विषय पढ़ाए जाएंगे, ताकि उनमें पढ़ने वाले बच्चे अन्य स्कूलों के विद्यार्थियों से बराबरी कर सकें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi