S M L

CBI के नए बॉस ऋषि शुक्ला की पहली चुनौती बनीं ममता बनर्जी

ऋषि कुमार शुक्ला 1983 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, नया सीबीआई प्रमुख चुनने वाली समिति में पीएम मोदी के अलावा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल थे

Updated On: Feb 04, 2019 11:39 AM IST

FP Staff

0
CBI के नए बॉस ऋषि शुक्ला की पहली चुनौती बनीं ममता बनर्जी

केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के बीच जारी तनातनी के साथ ही सीबीआई के नए निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने सोमवार सुबह अपना कार्यभार संभाल लिया है. न्यूज 18 की खबर के अनुसार की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने बीते शनिवार को ऋषि कुमार शुक्ला को नया सीबीआई चीफ बनाया था. ऋषि कुमार शुक्ला 1983 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. बता दें कि नया सीबीआई प्रमुख चुनने वाली समिति में पीएम मोदी के अलावा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल थे.

शुक्ला ने संयुक्त निदेशक के रूप में इंटेलिजेंस ब्यूरो में काम किया था

मध्य प्रदेश के DGP बनने से पहले, शुक्ला ने संयुक्त निदेशक के रूप में इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) में काम किया था. उन्होंने रेलवे, नारकोटिक्स और होमगार्ड्स के अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में भी कार्य किया है. ऋषि कुमार शुक्ला ने सोमवार को नए सीबीआई निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला जिसमें कोलकाता से उनकी पहली बड़ी चुनौती सामने आई. दरअसल कोलकाता के शीर्ष पुलिस अधिकारी राजीव कुमार से सवाल करने की एजेंसी की कोशिश ने ममता बनर्जी और केंद्र के बीच टकराव पैदा कर दिया है और अब इस मामले को नए सीबीआई निदेशक के रूप में ऋषि कुमार शुक्ला को ही संभालना होगा.

वह 2017 में बीमारी के चलते कई दिनों के अवकाश पर थे

ग्वालियर से पहले वह रायपुर में सहायक पुलिस अधीक्षक थे. बाद में वह दमोह, शिवपुरी और मंदसौर जिलों में पुलिस अधीक्षक के रूप में तैनात हुए थे. वह 1992 से 1996 के बीच केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर थे और 2009 से 2012 तक अतिरिक्त महानिदेशक, इंटेलिजेंस के रूप में कार्य किया था. ऋषि कुमार शुक्ला ने 1995 में अमेरिका में संकट प्रबंधन में और 2005 में बंधक वार्ता में प्रशिक्षण प्राप्त किया है. वह 2017 में किसी बीमारी के चलते कई दिनों के लिए अवकाश पर थे. इसके बाद फिर अक्टूबर 2018 में बाईपास सर्जरी के कारण वह 45 दिनों के लिए छुट्टी पर थे. उन्होंने इससे पहले कभी सीबीआई में काम नहीं किया है.

10 जनवरी को आलोक वर्मा को CBI निदेशक के पद से हटा दिया था

बता दें कि समिति ने 10 जनवरी को आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया था. हालांकि खड़गे ने इस पर अपनी असहमति जताई थी. कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश के अनुसार मध्यप्रदेश पुलिस के पूर्व प्रमुख ऋषि कुमार शुक्ला को दो साल के तय कार्यकाल के लिए सीबीआई का निदेशक नियुक्त किया गया है. 1983 बैच के मध्यप्रदेश कैडर के आईपीएस अधिकारी फिलहाल मध्यप्रदेश पुलिस आवास निगम के अध्यक्ष हैं. दूसरी तरफ समिति में शामिल कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरके शुक्ला के चयन पर असहमति जताते हुए पीएम को पत्र लिखा है.

बीते शुक्रवार शाम हुई लंबी बैठक में कई नामों पर चर्चा हुई थी

उनका कहना है कि आरके शुक्ला को करप्शन से जुड़े मामलों की जांच का अनुभव कम है. सीबीआई निदेशक के चयन के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली चयन समिति की बीते शुक्रवार शाम हुई लंबी बैठक में कई नामों पर चर्चा हुई थी. बैठक में कांग्रेस नेता की आपत्ति को दरकिनार कर समिति ने तीन नामों की सिफारिश नियुक्ति संबंधी कैबिनेट कमेटी (सीसीए) को भेज दी थी. शनिवार को नए निदेशक के रूप में ऋषि कुमार शुक्ला के नाम का ऐलान हो गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi