S M L

NEET मामला: आत्महत्या करने वाली दलित लड़की के परिवार को नौकरी

तमिलनाडु सरकार ने अनीता के पिता को 7 लाख रुपए का चेक और भाई को सरकारी नौकरी दी है

Updated On: Dec 28, 2017 09:08 PM IST

Bhasha

0
NEET मामला: आत्महत्या करने वाली दलित लड़की के परिवार को नौकरी

तमिलनाडु सरकार ने राष्ट्रीय प्रवेश योग्यता परीक्षा (एनईईटी) के नतीजों को लेकर सितंबर 2017 में आत्महत्या करने वाली लड़की के परिवार को आर्थिक मदद दी है. राज्य सरकार ने गुरुवार को सात लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी है. इसके साथ ही एस.अनीता के भाई को राज्य सरकार में नौकरी भी दी गई है.

मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने सचिवालय में अनीता के पिता षणमुगम को सात लाख रुपए का चेक दिया. मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार की कंपनी तमिलनाडु मेडिकल प्लांट फार्म्स एंड हर्बल मेडिसिन कॉरपोरेशन लिमिटेड में पीड़िता के भाई सतीश कुमार की कनिष्ठ सहायक के तौर पर नियुक्ति का पत्र भी दिया है.

क्या था मामला?

राष्ट्रीय प्रवेश योग्यता परीक्षा (एनईईटी) आधारित मेडिकल दाखिलों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाली 17 साल की अनीता ने एक सितंबर को अरियालुर जिले में अपने मूल गांव में कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी.

तमिलनाडु को एनईईटी के दायरे से छूट नहीं दिए जाने के बारे में जानकर अनीता कथित तौर पर परेशान थी. दिहाड़ी पर काम करने वाले की बेटी अनीता डॉक्टर बनना चाहती थी. उसने 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में 1200 में से 1176 अंक हासिल किए थे लेकिन नीट में वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई थी जिसके कारण उसे मेडिकल सीट नहीं मिल सकी.

अनीता की मौत के बाद छात्रों और अन्य लोगों ने एनईईटी का विरोध करते हुए और अनीता के लिए न्याय की मांग करते हुए राज्यभर में एक सप्ताह से अधिक समय तक विरोध प्रदर्शन किए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi