S M L

सुकमा हमला सरकार की विफलता, छत्तीसगढ़ में लगे राष्ट्रपति शासन: बघेल

भूपेश बघेल ने राज्य में नक्सली समस्या बढ़ने के लिए रमन सिंह के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया

Updated On: Apr 26, 2017 11:14 PM IST

Bhasha

0
सुकमा हमला सरकार की विफलता, छत्तीसगढ़ में लगे राष्ट्रपति शासन: बघेल

सुकमा में हुई नक्सली घटना के बाद कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है. छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने सीआरपीएफ जवानों पर घात लगाकर किए हमले को नक्सलियों की कायराना और घिनौनी हरकत बताया है.

उन्होंने घटना के लिए मुख्यमंत्री रमन सिंह के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. बघेल ने कहा कि, 'सरकार के मुखिया होने के नाते रमन सिंह बस्तर में हो रहे लगातार नक्सली वारदातों के लिए अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते हैं.'

उन्होंने कहा कि, 'रमन सिंह बीते 13 साल से यूनिफाइड (संयुक्त) कमान के प्रमुख हैं. इसके बावजूद केंद्रीय पुलिस बल और राज्य पुलिस बल के बीच कहीं कोई समन्वय और सामंजस्य नहीं है.'

बघेल ने राज्य सरकार पर नक्सली अभियान के लिए मिले केंद्रीय सरकारी संसाधनों का इस्तेमाल नहीं करने का भी आरोप लगाया.

Bhupesh Baghel

भूपेश बघेल ने रमन सरकार पर नक्सली समस्या से निपटने में कोताही बरतने का आरोप लगाया है (फोटो: फेसबुक से साभार)

जवानों के लिए नहीं ली गई हेलीकाप्टर की मदद

छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, जवानों की मदद के लिए फौरन हेलिकाप्टर की मदद नहीं ली गई. पास ही में सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन का कैंप होने के बावजूद फौरन बैकअप नहीं दिया गया. जिसके चलते इतनी बड़ी संख्या में जवानों की जान गई.

उन्होंने सवाल पूछा कि, सरकार बताए कि बस्तर के संवेदनशील नक्सली क्षेत्र में कितने जिला पुलिस बल, इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल, कांस्टेबल और कितनी संख्या में महिला पुलिस बल तैनात है. केवल सीआरपीएफ के बदौलत कानून व्यवस्था ठीक नहीं की जा सकती है.

बघेल ने कहा कि, राज्य सरकार और अधिकारियों की लड़ाई का खामियाजा आम लोगों और जवानों को उठाना पड़ रहा है. उन्होंने राष्ट्रपति से छत्तीसगढ़ में तुरंत प्रभाव से राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की.

सोमवार को सुकमा के दोरनापाल इलाके में सैकड़ों हथियारबंद नक्सलियों ने रोड ओपनिंग के काम में लगे सीआरपीएफ जवानों पर घात लगाकर हमला बोल दिया था. जिसमें 25 जवान शहीद हो गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi