S M L

नेवी वॉर रूम लीक केस: CBI कोर्ट ने रिटायर्ड कैप्टन को सुनाई 7 साल की सजा

जज ने 1923 के सरकारी गोपनीयता कानून की धारा के तहत आरोपी को दोषी करार दिया. जबकि एक अन्य आरोपी कमांडर (रिटायर्ड) जरनैल सिंह कालरा को मामले से बरी कर दिया

Updated On: Jul 11, 2018 03:52 PM IST

FP Staff

0
नेवी वॉर रूम लीक केस: CBI कोर्ट ने रिटायर्ड कैप्टन को सुनाई 7 साल की सजा

नेवी वॉर रूम लीक मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने रिटायर्ड कैप्टन सलाम सिंह राठौर को 7 साल की सजा सुनाई है.

अदालत ने कहा कि राठौर ने इस अपराध को राष्ट्रीय सुरक्षा (नेशनल सिक्युरिटी) के खिलाफ अंजाम दिया है. विशेष सीबीआई जज एस के अग्रवाल ने सरकारी गोपनीयता कानून के तहत राठौर को जासूसी करने का अपराधी मानते हुए कारावास की सजा सुनाई.

जज ने 1923 के सरकारी गोपनीयता कानून की धारा 3(1) सी के तहत आरोपी को दोषी करार दिया. जबकि एक अन्य आरोपी कमांडर (रिटायर्ड) जरनैल सिंह कालरा को मामले से बरी कर दिया.

अदालत ने सजा सुनाते वक्त अभियोजन पक्ष के इस तर्क पर गौर किया कि राठौर के कब्जे से ऐसे कई गोपनीय दस्तावेज बरामद हुए हैं जिनका उनके पास होने का कोई कारण नहीं है.

बता दें कि वर्ष 2005 के शुरुआत में राठौर ने नेवी वॉर रूम और एयर डिफेंस क्वॉर्टर से सुरक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण दस्तावेज और गोपनीय सूचनाएं किसी अनजान शख्स को दी थी. इसके एवज में राठौर को पैसे मिले थे. ऑफिशल सीक्रेट एक्ट के तहत दोषी मानते हुए कोर्ट ने उसे 7 साल की सजा सुनाई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi