S M L

National Voters Day 2019: 25 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है 'लोकतंत्र का त्योहार' मतदाता दिवस?

इस साल ये नौवां मतदाता दिवस है. इस बार की थीम रखी गई है- ‘No Voter to be Left Behind’, यानी कोई भी मतदाता पीछे नहीं छूटना चाहिए

Updated On: Jan 25, 2019 08:17 AM IST

FP Staff

0
National Voters Day 2019: 25 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है 'लोकतंत्र का त्योहार' मतदाता दिवस?

आज यानी 25 जनवरी को नेशनल वोटर्स डे मनाया जा रहा है. देश में हर साल इस तारीख को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के तौर पर मनाया जाता है. ये दिन देश को खासकर युवा मतदाताओं को मतदान और राजनीतिक प्रतिक्रिया के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है. इस दिन को देश के लोकतंत्र का त्योहार भी कह सकते हैं. इस दिन वोट देने की लोकतांत्रिक प्रक्रिया के जश्न का दिन होता है.

क्यों मनाया जाता है?

25 जनवरी को ही हर साल राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है. बता दें कि राष्ट्रीय मतदाता दिवस सबसे पहले साल 2011 को 25 जनवरी को मनाना शुरू किया गया था. 25 जुलाई, 1950 को भारतीय चुनाव आयोग की स्थापना की गई थी. इसलिए 2011 से इस दिन राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने का फैसला किया गया.

इस साल ये नौवां मतदाता दिवस है. इस बार की थीम रखी गई है- ‘No Voter to be Left Behind’, यानी कोई भी मतदाता पीछे नहीं छूटना चाहिए.

चुनाव आयोग ने 2009 में चुनावी प्रक्रिया में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए नई सिस्टमेटिक वोटर्स एजुकेशन एंड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन स्ट्रेटजी (SVEEP) अपनाई थी.

क्या है उद्देश्य?

चुनाव आयोग देश में राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति चुनाव, लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा चुनाव करवाता है. इस दिन का उद्देश्य देश के वोटरों को उनके अधिकारों और लोकतंत्र के प्रति कर्तव्यों की याद दिलाना है. खासकर हर साल जुड़ रहे युवा मतदाताओं को इस प्रक्रिया में शामिल करना है.

इस बार क्या है तैयारी?

इस बार चुनाव आयोग 9वें मतदाता दिवस पर देश भर में छह लाख से ज्यादा जगहों पर 10 लाख से के आसपास के पोलिंग स्टेशनों पर मतदाता दिवस मनाएगा. इन कार्यक्रमों में नए मतदाताओं को रजिस्ट्रेशन किया जाएगा और उनको उनके ईपीआईसी यानी इलेक्टर फोटो आइडेंटिटी कार्ड दिए जाएंगे.

प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो ने एक प्रेस रिलीज के जरिए जानकारी दी है कि इस दिन नई दिल्ली में चुनाव आयोग की ओर से कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, जिसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद रहेंगे. इस कार्यक्रम में My Vote Matters नाम की एक त्रैमासिक पत्रिका भी लॉन्च किया जाएगा.

साथ ही यहां मतदान जागरूकता के क्षेत्र में अहम योगदान देने वाले सिविल सोसाइटी ऑर्गेनाइजेशन्स और मीडिया हाउसेस को नेशनल अवॉर्ड भी दिया जाएगा. साथ ही चुनाव आयोग के उन अधिकारियों को भी सम्मानित किया जाएगा, जिन्होंने देश भर की चुनावी प्रक्रिया को सुचारू रूप से चलाने के लिए अपना अहम योगदान दिया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi