Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

प्रदूषण से हर साल 17 लाख बच्चों की मौत: डब्लयूएचओ

रिपोर्ट में वायु प्रदूषण के कारण बच्चों में हार्ट अटैक, हार्ट संबंधी बीमारियां और कैंसर जैसी बीमारियों के खतरे का भी जिक्र है

IANS Updated On: Mar 06, 2017 10:37 PM IST

0
प्रदूषण से हर साल 17 लाख बच्चों की मौत: डब्लयूएचओ

हर साल प्रदूषण के कारण लगभग 17 लाख बच्चों की मौत हो जाती है. डब्लयूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार इसकी वजह गंदा पानी, गंदगी और खराब स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं हैं.

डब्लयूएचओ ने सोमवार को एक रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट के अनुसार, एक महीने से लेकर पांच साल के बच्चों की होने वाली मौतों में हर चौथी मौत की वजह प्रदूषण है. गंदी हवा और गंदे पानी के कारण बच्चों की उम्र पर भी बेहद बुरा असर पड़ता है

धूम्रपान से घर के अंदर और बाहर बच्चों को निमोनिया और अस्थमा जैसी सांस से जुड़ी बीमारियों से ज्यादा खतरा होता है.

डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि वायु प्रदूषण के कारण बच्चों में हार्ट अटैक, हार्ट संबंधी बीमारियां और कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है.

हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पेचिश, मलेरिया और निमोनिया के कारण होने वाली बच्चों की मौतों को मच्छरदानी, खाना पकाने के लिए स्वच्छ ईंधन के इस्तेमाल और साफ पानी के इस्तेमाल से रोका जा सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi