S M L

कम हुआ 'दिल का बोझ', स्टेन्ट्स की कीमत में बड़ी कटौती

पिछले साल पहली बार एनपीपीए ने स्टेन्ट्स के दाम में कटौती की थी और इसकी कीमत को 30 हजार 180 रुपए तय कर दी थी

FP Staff Updated On: Feb 13, 2018 12:33 PM IST

0
कम हुआ 'दिल का बोझ', स्टेन्ट्स की कीमत में बड़ी कटौती

नेशनल फार्मास्युटिक्ल्स प्राइजिंग अथॉरिटी (एनपीपीए) ने कार्डियाक स्टेन्ट्स के दाम में बड़ी कटौती की है. अब स्टेन्ट्स 30 हजार 180 रुपए की बजाय 27 हजार 890 रुपए में मिलेगी.

पिछले साल पहली बार एनपीपीए ने स्टेन्ट्स के दाम में कटौती की थी और इसकी कीमत को 30 हजार 180 रुपए तय कर दी थी. एंजियोप्लास्टी के दौरान लगाए जाने वाले स्टेन्ट्स की कीमत तय करते हुए नेशनल फार्मास्युटिक्ल्स प्राइजिंग अथॉरिटी ने कहा है कि कोई भी अस्पताल या दवा कंपनी इस दवाई की कीमत तय दाम से ज्यादा नहीं वसूलेंगे.

एनपीपीए ने सिर्फ इसी की कीमत तय नहीं की है, इस प्रक्रिया में इस्तेमाल होने वाले कई चिकित्सा उपकरणों की भी कीमत तय की है. इनमें कार्डियाक बैलून कैथेटर, कार्डियाक गाइडिंग कैथेटर और कार्डियाक गाइडवेयर पब्लिक शामिल हैं. अथॉरिटी ने अपने रिसर्च में पाया था कि आयातित दवाइयों पर मार्जिन 400 प्रतिशत से अधिक है जबकि देसी निर्माता इन दवाओं और उपकरणों पर 230 प्रतिशत तक लाभ कमाते हैं.

स्टेन्ट्स की कीमत को तय करने की मांग करने वाले संगठन, ऑल इंडिया ड्रग एक्शन नेटवर्क ने एनपीपीए के फैसले को रोगियों के पक्ष में एक निर्णायक कदम बताया है.

किसे पड़ती है स्टेन्ट्स की जरुरत

स्टेन्ट्स की जरुरत दो तरह के मरीजों को होती है. एक जिनके दिल में ब्लॉकेज हो और अटैक भी हो और दूसरे जिनके दिल में ब्लॉकेज हो पर अटैक न हो.

क्या काम करता है स्टेन्ट?

आज के समय में ज्यादातर लोग दिल के नलियों में ब्लॉक हो जाने की बीमारी से शिकार हैं. इसी के इलाज में एक स्प्रिंग जैसे धातु को सेट कर के दिल को बचाया जाता है. स्टेन्ट लगाने से दिल की नलियों में ब्लॉक की समस्या से समाधान मिल जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi