S M L

कठिन सुधारों के बाद सही दिशा में बढ़ रही है अर्थव्यवस्था: मोदी

रविवार को गुजरात के दाहेज में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि व्यापारी डरें नहीं

Updated On: Oct 22, 2017 06:20 PM IST

Bhasha

0
कठिन सुधारों के बाद सही दिशा में बढ़ रही है अर्थव्यवस्था: मोदी

विपक्ष की ओर से किए जा रहे आर्थिक सुधार को पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि कठिन सुधारों के बाद अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है और सही दिशा में आगे बढ़ रही है. हमने कड़े फैसले लिए हैं और ऐसा करना जारी रखेंगे.

रविवार को गुजरात के दाहेज में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि व्यापारी डरें नहीं. जीएसटी के बाद पुराने खातों की जांच के नाम पर परेशान नहीं किया जाएगा. ईमानदारी के दम पर ही कमाई की जाती है.

बहुत से अर्थशास्त्री इस बात पर सहमत हैं कि अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है. सरकार ने देश में एक नई कार्य संस्कृति तैयार की है, जो जवाबदेह और पारदर्शी हो.

इसी कार्य संस्कृति की वजह से दो गुना गति से सड़कें बन रही हैं, रेल लाइनें बन रही हैं. योजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए ड्रोन से निगरानी की जा रही है.

 खोज-खोज कर फाइलें निकाल रहा हूं 

मोदी ने कहा, ‘ऐसी कार्य संस्कृति तैयार की गई है जो गरीबों और मध्यम वर्ग को तकनीकी मदद से उनका हक दिला रही ह. खोज-खोज कर फाइलें निकाल रहा हूं और जो परियोजनाएं दशकों से अटकी हुई हैं उन्हें पूरा कर रहा हूं.'

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम लोगों को ईमानदारी का माहौल देने का काम कर रहे हैं. नोटबंदी ने कालेधन को तिजोरी से बैंकों तक पहुंचाया है और जीएसटी से देश को नया बिजनेस कल्चर मिला.

प्रधानमंत्री मोदी रो रो फेरी सर्विस के तहत फेरी में सवार होकर 100 दिव्यांग बच्चों के साथ घोघा से दाहेज पहुंचे.

नया मंत्र दिया ‘पी फार पी’ यानी पोर्ट फॉर प्रॉस्पेरिटी 

दाहेज में एक सभा को संबोधित करते हुए नया मंत्र दिया ‘पी फार पी.’ उन्होंने कहा कि हमारे लिए पी फॉर पी है, यानी पोर्ट फॉर प्रॉस्पेरिटी अर्थात समृद्धि के लिए बंदरगाह.

मोदी ने कहा कि बंदरगाह समृद्धि के प्रवेश द्वार हैं और सागरमाला परियोजना इसी की एक झलक है. हमने इस परियोजना को साल 2035 की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया है.

इसके तहत आधारभूत ढांचे के विकास से जुड़ी 400 परियोजनाओं पर बहुत बड़ा निवेश किया जा रहा है. इन पर करीब 8 लाख करोड़ रूपए के निवेश की तैयारी है.

मोदी ने कहा कि 'हमें विश्वास है कि अकेले सागर माला प्रोजेक्ट से 1 करोड़ नौकरियां पैदा होंगी. सागरमाला जैसी परियोजना के आधार पर ही न्यू इंडिया का निर्माण किया जा सकेगा.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi