S M L

चंपारण में बोले मोदी- लटकाने, अटकाने और भटकाने वाला काम खत्म, बदलाव स्वीकार नहीं कर पाने वाले परेशान

मोदी ने कहा पिछले एक हफ्ते में बिहार में 8 लाख 50 हजार से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया गया है

FP Staff Updated On: Apr 10, 2018 02:16 PM IST

0
चंपारण में बोले मोदी- लटकाने, अटकाने और भटकाने वाला काम खत्म, बदलाव स्वीकार नहीं कर पाने वाले परेशान

1917 में महात्मा गांधी के नेतृत्व में शुरू हुए चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को चंपारण के दौरे पर हैं. इस दौरान वे विशेष विमान से पटना पहुंचे जहां बिहार के मुख्यमंत्री और नीतीश कुमार और गवर्नर सत्यपाल सिंह ने उनका स्वागत किया. इसके बाद उन्होंने बिहार के मोतिहारी पहुंचकर माहात्मा गांधी को श्रद्धांजलि भी दी. अपने इस दौरे में उन्होंने कई सारी योजनाओं की सौगात दी. उन्होंने हमसफर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई वहीं मधेपुरा रेल इंजन फैक्ट्री का उद्घाटन भी किया

स्वच्छता को लेकर की नीतीश कुमार औऱ सुशील मोदी की तारीफ

इसके बाद उन्होंने 20 हजार स्वच्छाग्रहियों को संबोधित किया. अपेन भाषण की शुरूआत उन्होंने भोजपुरी से की. पीएम मोदी ने कहा कि चंपारण से मेरा पुराना नाता है. बिहार ने देश को रास्ता दिखाया है. स्वच्छता को लेकर पीएम मोदी ने सीएम नीतीश कुमार की तारीफ की. पीएम मोदी ने कहा कि देश के कोने-कोने से स्वच्छाग्राही आए हैं. बिहार सरकार ने लाखों शौचालय बनवाए हैं. स्वच्छता का दायरा बिहार में लगातार बढ़ रहा है.

नीतीश कुमार और सुशील मोदी की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा नीतीश और सुशील मोदी के नेतृत्व में बिहार में जो काम हुआ है, उसने सब का हौसला बढ़ाया है.

मोदी ने कहा पिछले एक हफ्ते में बिहार में 8 लाख 50 हजार से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया गया है. ये गति और प्रगति कम नहीं है.

विपक्ष पर बोला हमला

नरेंद्र मोदी ने कहा गंगा तट के किनारे बने गांवों को प्राथमिकता के आधार पर खुले में शौच से मुक्त बनाया जा रहा है. गंगा किनारे बसे गांवों में कचरे के प्रबंधन की योजनाएं लागू की जा रही हैं ताकि गांव का कचरा नदी में ना बहाया जाए. जल्द ही गंगा तट पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा.

इस बीच मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि बदलाव को स्वीकार नहीं कर पाने वाले परेशान हैं. अब लटकाने, अटकाने और भटकाने वाला काम नहीं होगा. उन्होंने कहा हमारी सरकार जन जन के मन को जोड़ने का काम कर रही है लेकिन कुछ लोग आज देश में जन-जन को तोड़ने का काम कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi