S M L

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम: ब्रजेश ठाकुर के लोग बच्चियों को दिखाते थे ब्लू फिल्म, कुर्सी से बांधकर होता था रेप

लड़कियों को गंदे भोजपुरी गानों पर डांस कराया जाता था, उन्हें नशे का इंजेक्शन और दवा देकर सुला दिया जाता था

Updated On: Jan 06, 2019 02:44 PM IST

FP Staff

0
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम: ब्रजेश ठाकुर के लोग बच्चियों को दिखाते थे ब्लू फिल्म, कुर्सी से बांधकर होता था रेप

मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में सीबीआई ने मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित 21 आरोपियों के खिलाफ विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में गंभीर आरोप लगाए हैं. न्यूज 18 के पास चार्जशीट की कॉपी मौजूद है. इसके अनुसार लड़कियों को गंदे भोजपुरी गानों पर डांस कराया जाता था. उन्हें नशे की सुई और दवा देकर सुला दिया जाता था. सोने के बाद उनके साथ दुष्कर्म किया जाता था. चार्जशीट में इस बात का साफ जिक्र है कि बालिका गृह में रोज ब्रजेश ठाकुर की महफिल सजती थी.

नशे का इंजेक्शन और दवा देकर दुष्कर्म किया जाता था

ब्रजेश के अलावा शेल्टर होम के कर्मचारी और सीडब्ल्यूसी के सदस्य सहित अन्य लोग वहां रात में पहुंचते थे. चार्जशीट में कहा गया है कि नाबालिग बच्चियों को छोटे-छोटे कपड़े पहनाकर अश्लील गानों पर डांस करने के लिए मजबूर किया जाता था और इनकार करने पर उन्हें मारा पीटा जाता था. चार्जशीट के अनुसार लड़कियों को ब्लू फिल्में भी दिखाई जाती थी. इसके बाद नशे का इंजेक्शन और दवा देकर दुष्कर्म किया जाता था. विरोध करने वाली किशोरियों को कुर्सी से बांधकर उनके साथ दुष्कर्म किया जाता था और मारा-पीटा जाता था.

19 दिसंबर को सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी

आपको बता दें कि बीते 19 दिसंबर को सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी. इसमें 33 बच्चियों समेत 102 लोगों की गवाही दर्ज है. इसमें खास बात ये है कि सीबीआई की चार्जशीट भी पुलिस की चार्जशीट के पैटर्न पर ही है. चार्जशीट के कवर पन्ने पर सीबीआई ने स्पष्ट कर दिया है कि बयान देने वाली किशोरियों का नाम चार्जशीट में नहीं खोला गया है. इनके नाम और केस स्टडी बंद लिफाफे में कोर्ट में दिया गया है ताकि किशोरियों की गोपनीयता बनी रहे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi