S M L

शेल्टर होम मामला: जेल के मेडिकल वार्ड में दाखिल ब्रजेश ठाकुर की बढ़ेगी परेशानी

ब्रजेश की परेशानी अब जेल में बढ़ सकती है. जेल अधीक्षक राजीव कुमार झा ने सिविल सर्जन को पत्र लिखकर मेडिकल बोर्ड का गठन कर जांच रिपोर्ट देने को कहा है

Updated On: Aug 06, 2018 04:07 PM IST

FP Staff

0
शेल्टर होम मामला: जेल के मेडिकल वार्ड में दाखिल ब्रजेश ठाकुर की बढ़ेगी परेशानी

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम प्रकरण ने बिहार की राजनीति में हचलल मचा दी है. सोमवार को खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले पर विस्तार से प्रकाश डाला और कार्रवाई के बारे में जानकारी दी.

एक बड़ी कार्रवाई के तहत तीन सदस्यों की एक मेडिकल टीम बहुत जल्द शहीद खुदीराम बोस सेंट्रल जेल पहुंचने वाली है जो आरोपी ब्रजेश ठाकुर का मेडिकल टेस्ट करेगी और जेल प्रशासन को सौंपेगी. ठाकुर फिलहाल इसी जेल के मेडिकल वॉर्ड में दाखिल है.

न्यूज18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दो जून को गिरफ्तारी के बाद तीन जून को ब्रजेश को जेल भेजा गया लेकिन अपनी पहुंच का फायदा उठाकर महज 5 दिन बाद ही 9 जून को वो एसकेएमीएच में इलाज के लिए भर्ती हो गया. 17 दिनों तक एसकेएमसीएच में रहने के बाद जब अस्पताल के अधीक्षक ने किसी प्रकार की रिपोर्ट नहीं सौंपी तो नए जेल अधीक्षक राजीव कुमार झा ने जेल उपाधीक्षक से एसकेएमसीएच के अधीक्षक से बीमारी की रिपोर्ट मांगी.

संतोषजनक रिपोर्ट नहीं मिलने पर फिर से ब्रजेश ठाकुर को शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा मुजफ्फरपुर में भर्ती कराया गया लेकिन ब्रजेश ठाकुर जेल के मेडिकल वार्ड में भर्ती है. जेल के डॉक्टर लगातार ब्रजेश को मेडिकल ट्रीटमेंट की रिपोर्ट दे रहे हैं.

मामला तूल पकड़ता देख सरकार ने ठाकुर के मेडिकल टेस्ट के लिए तीन डॉक्टरों की एक टीम बनाई है जो सोमवार को सेंट्रल जेल में उसके सेहत की जांच करेगी. रिपोर्ट मिलने के बाद ब्रजेश ठाकुर के बारे में जेल प्रशासन फैसला लेगा. सूत्रों की मानें तो ब्रजेश की परेशानी अब जेल में बढ़ सकती है. जेल अधीक्षक राजीव कुमार झा ने सिविल सर्जन को पत्र लिखकर मेडिकल बोर्ड का गठन कर जांच रिपोर्ट देने को कहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi