S M L

बिहार: गर्ल्स शेल्टर होम में रेप और हत्या, तेजस्वी का नीतीश पर हमला

तेजस्वी यादव का आरोप है कि शेल्टर होम्स चलाने वाला शख्स नीतीश के घर के पास रहता है और उनके लिए चुनाव प्रचार भी करता है

Updated On: Jul 23, 2018 04:59 PM IST

FP Staff

0
बिहार: गर्ल्स शेल्टर होम में रेप और हत्या, तेजस्वी का नीतीश पर हमला

बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका आवास गृह में लड़की का शव निकालने के लिए परिसर में खुदाई जारी है. कोर्ट के इस संबंध में आदेश जारी करने के बाद पुलिस ने यह कार्रवाई शुरू की है . सूत्रों के अनुसार मृतक बच्ची के शव को ढूंढने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस की मौजूदगी में बालिका गृह परिसर की खुदाई की जा रही है.

इस शेल्टर होम में पिछले दिनों 21 बच्चियों के बलात्कार का भी मामला सामने आया था. इन रेप पीड़ित लड़कियों ने कोर्ट के समक्ष बताया था कि उनके साथ रहने वाली एक लड़की की शेल्टर होम कर्मचारियों ने इतनी पिटाई की थी कि उसकी मौत हो गई. इसके बाद आनन-फानन में उन्होंने उसका शव परिसर में ही दफना दिया था.

इस बीच आरजेडी लीडर तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि शेल्टर होम के मालिक का घर सीएम नीतीश कुमार के घर के पास है. उन्होंने कहा, 'एनजीओ चलाने वाला शख्स नीतीश कुमार के लिए चुनाव प्रचार भी कर चुके हैं.'

लड़कियों  के निशानदेही करने के बाद हो रही है खुदाई

लड़कियों ने इसके साथ ही उस जगह की निशानदेही भी की है, जिसके बाद सबूत जुटाने के लिए परिसर की खुदाई की जा रही है. मजिस्ट्रेट की निगरानी में हो रही इस खुदाई की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जा रही है.

बता दें कि मुंबई की संस्था टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइसेंज़ (TISS) की टीम ने बालिका गृह के सोशल ऑडिट रिपोर्ट में 21 लड़कियों के साथ यौन शोषण का खुलासा किया था. इस बीच यह भी बताया जा रहा है कि वर्ष 2013 से 2018 के बीच यहां से छह लड़कियां गायब हो गईं. इन लड़कियों के गायब होने का कोई पुलिस रिकॉर्ड नहीं है.

सीबीआई जांच कराने की मांग

इस बीच मधेपुरा से सांसद पप्पु यादव ने लोकसभा में मुजफ्फरपुर स्थित शेल्टर होम में रेप का मामला उठाते हुए सीबीआई से इसकी जांच कराने की मांग की है. इस शेल्टर होम में रहने वाली 21 बच्चियों के साथ बलात्कार की पुष्टि हुई है. वहीं इस मामले में सेवा संकल्प और विकास समिति के रसूखदार संचालक ब्रजेश ठाकुर समेत 11आरोपी जेल में हैं. इनमें आठ महिलाएं भी शामिल हैं.

इस मामले में जिला बाल कल्याण समिति के एक सदस्य विकास और जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी रवि रौशन को भी पुलिस ने जेल भेज दिया है, जबकि जिला बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष दिलीप वर्मा फरार चल रहे हैं. बालिका गृह यौन शोषण मामले में कई बड़े सफेदपोश और रसूखदार पुलिस की रडार पर हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi