S M L

शरिया कोर्ट पर BJP-RSS कर रहे हैं राजनीति: AIMPB

जफरयाब जिलानी ने कहा कि बीजेपी-आरएसएस शरिया कोर्ट के नाम पर राजनीति कर रहे हैं

Updated On: Jul 15, 2018 08:01 PM IST

FP Staff

0
शरिया कोर्ट पर BJP-RSS कर रहे हैं राजनीति: AIMPB

देशभर के सभी जिलों में शरिया कोर्ट बनाने को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है. रविवार को बोर्ड के सदस्यों ने मीडिया से बातचीत करते हुए अपनी तैयारियों से अवगत कराया. उन्होंने कहा कि बोर्ड अपनी जिम्मेदारियों के साथ काम कर रहा है, और शरिया कोर्ट के बारे में लोगों को जागरूक कर रहा है.

बोर्ड के सदस्य जफरयाब जिलानी ने मीडिया से कहा कि बीजेपी-आरएसएस शरिया कोर्ट के नाम पर राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि शरिया बोर्ड कोई अदालत नहीं है.

तीन तलाक के बाद अब शरिया कोर्ट

तीन तलाक पर किरकिरी कराने के बाद ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने देशभर के सभी जिलों में शरिया अदालतों के गठन की बात की थी. इन शरिया अदालतों का मकसद छोटे-छोटे मुद्दों का निपटारा करना था.

मुस्लिम लॉ बोर्ड के इस फैसले का बीजेपी ने विरोध किया था. हालांकि कांग्रेस ने इसे बीजेपी का ही चुनावी पैंतरा बताया था. कांग्रेस का कहना था की बीजेपी चुनावों के पहले सांप्रदायिकता फैलाने के लिए ऐसे मुद्दों का उपयोग कर रही है.

सुप्रीम कोर्ट ने नहीं लगाया था शरिया कोर्ट पर प्रतिबंध

इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट साल 2014 में ही अपना रुख साफ कर चुका है. सुप्रीम कोर्ट ने शरिया अदालत पर  प्रतिबंध लगाने से साफ इनकार कर दिया था. कोर्ट का कहना था कि शरिया कोर्ट का फैसला मानने के लिए किसी को बाध्य नहीं किया जा सकता है. साथ ही कोर्ट ने कहा कि अगर कोई वहां जा कर मामलों का निपटारा करना चाहता है तो उसे भी नहीं रोका जा सकता.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi