S M L

'मुझे गिरफ्तार कर लीजिए, मैं एनकाउंटर में मरना नहीं चाहता'

मामला पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली जिले का है, यहां एक अपराधी थाने पहुंच कर खुद सरेंडर किया और कहा कि मुझे गोली से डर लगता है

FP Staff Updated On: Feb 19, 2018 06:38 PM IST

0
'मुझे गिरफ्तार कर लीजिए, मैं एनकाउंटर में मरना नहीं चाहता'

पश्चिम उत्तर प्रदेश के शामली जिले के थाना झिनझिना में जब रविवार दोपहर को स्टेशन ऑफिसर संदीप बालियान बैठे हुए थे तभी उन्होंने देखा कि एक युवक उनकी तरफ आ रहा है. युवक ने आते ही एक हत्या के मामले में सरेंडर करने को कहने लगा. राज्य में अपराध के खिलाफ लगातार हो रहे एनकाउंटर से अपराधियों के मन में खौफ समा गया है. यहीं कारण है कि अपराधी खुद ही थाने जाकर सरेंडर कर रहे हैं.

बालियान ने बताया कि 22 वर्षीय मुंशाद अली हाथ जोड़ कर थाने में आया. उसने कहा कि मेरा नाम मुशांद अली है और मैं एक हत्या के मामले में अभियुक्त हूं. उसने बालियान से कहा कि मुझे पुलिस की गोली से डर लगता है.

न्यूज-18 की खबर के मुताबिक, बालियान ने कहा कि वह अपने गांव के ही तैयाब की हत्या में अभियुक्त है. मुशांद ने पुलिस थाने में सरेंडर किया और पुलिस के सामने अपराध की दुनिया को छोड़ने की कसम भी खाई.

बालियान ने आगे बताया कि इस हत्या के मामले में पहले से ही 6 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. मुशांद इस मामले में सातवां अभियुक्त था और कुछ समय से फरार चल रहा था. उसे फिलहाल शामली जिला कोर्ट में भेज दिया गया है और जल्द ही उसे सुनवाई के लिए कोर्ट में पेश किया जाएगा.

यह पहला मामला नहीं है जब किसी अभियुक्त ने एनकाउंटर में मारे जाने के डर से पुलिस के पास जाकर सरेंडर करने की बात कही हो. पिछले सप्ताह शामली जिले के कैराना के सलमान बाबा नाम के एक आदमी ने पुलिस थाने में सरेंडर किया और अपराध की दुनिया छोड़ने की कसम खाई. सलमान भी एक हत्या के मामले में अभियुक्त था.

आधिकारिक डेटा के अनुसार, योगी आदित्यानाथ सरकार के पहले 10 महीने में ही राज्य में 1,100 पुलिस एनकाउंटर हुए हैं. इन मुठभेड़ों में 34 क्रिमिनल को मारा गया है और 265 घायल हुए है. एनकाउंटर का ही असर है कि 2.744 हिस्ट्री शीटर पुलिस के हत्थे चढे हैं. इन एनकाउंटरों में अब तक 4 पुलिस जवानों की मौत हुई है और 274 घायल हुए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi