S M L

'धमाके की आवाज से नींद टूटी.. देखा तो लगा खाई के सामने खड़े हैं'

भारतीय हॉकी टीम के सदस्य रहे मीर रंजन नेगी का घर बी विंग में है जबकि यह घटना सुबह 4 बजे सी और डी विंग में हुई है

Updated On: Jun 25, 2018 05:31 PM IST

Mir Ranjan Negi Mir Ranjan Negi

0
'धमाके की आवाज से नींद टूटी.. देखा तो लगा खाई के सामने खड़े हैं'

हमारे लिए यह रात ऐसी थी, जिसे सोचकर अब भी सिहरन होती है. यह हमारे पड़ोस की बिल्डिंग है, जो आपको तस्वीर में किसी खाई की तरह नजर आ रही है. हम भी वडाला के ही इलाके में लॉयड एस्टेट में ही रहते हैं. हम बी विंग में रहते हैं. यह घटना करीब सुबह चार बजे सी और डी विंग में हुई है. ढहने की आवाज से हमें लगा कि कोई बड़ा हादसा हो गया है. बाहर निकल कर देखा, तो ऐसा लग रहा था कि हमारी बिल्डिंग के पास कोई खाई है.

यहां पर कंस्ट्रक्शन का काम लगातार चल रहा था. मुंबई में पिछले कुछ दिनों से बारिश हो रही है. हम सब जानते हैं कि यहां मॉनसून का सीजन है. हर सीजन में कोई न कोई बुरी खबर आती है. लेकिन हमने यह कभी नहीं सोचा था कि इस तरह किसी बिल्डिंग का हिस्सा ढह जाएगा. इसमें करीब 20 कारें दब गईं. हम सुबह से यहां देख रहे हैं और कारों को निकालने का काम जारी है. जिस समय मैं ये पंक्तियां लिख रहा हूं, उस वक्त कुछ गाड़ियां अब भी फंसी हुई हैं.

बारिश के कारण एंटॉप हिल स्थित विद्यालंकर रोड पर एक अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग की दीवार गिर गई जिसमें 7 गाड़ियों को नुकसान पहुंचा

बारिश के कारण एंटॉप हिल स्थित विद्यालंकर रोड पर एक अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग की दीवार गिर गई जिसमें कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा

इस पूरे इलाके में हजारों लोग रहते हैं. करीब साढ़े तीन सौ परिवार के लिए खतरा है. तमाम परिवार किसी सुरक्षित जगह चले गए हैं. कुछ लोग हैं, जिनके घर इन्हीं विंग में हैं. वो अब भी यहीं पर हैं. लेकिन आप समझ सकते हैं कि इन लोगों के लिए कितना बड़ा खतरा है. अगर वो बीम गिर जाए, जिस पर बिल्डिंग बनी हुई है, तो समझ सकते हैं कि कितना नुकसान होगा. यकीनन, जो लोग इस मामले में जिम्मेदार हैं, उन पर कार्रवाई होनी चाहिए. जो लोग मुंबई से परिचित नहीं हैं, उनके लिए बताना चाहूंगा कि वडाला इलाका दक्षिण मुंबई में आता है. इस घटना के बाद पूरा इलाका खाली कराया गया है. लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर ऐसी घटना हो कैसे सकती है.

(मीर रंजन नेगी भारतीय हॉकी टीम के सदस्य रहे हैं. वह वडाला की उसी बिल्डिंग के करीब रहते हैं, जिसका हिस्सा गिरा है. यह स्टोरी शैलेश चतुर्वेदी के साथ बातचीत पर आधारित है.)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi