S M L

LIVE मुंबई में किसानों की महारैली: फडणवीस के भरोसे पर खत्म हुआ किसान आंदोलन

किसान सरकार की वादाखिलाफी से नाराज हैं. वो कर्ज माफी, जंगल की जमीन का पट्टा दिए जाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर यह मार्च निकाल रहे हैं

FP Staff | March 12, 2018, 06:25 PM IST

0

हाइलाइट

Mar 12, 2018

  • 18:24(IST)

    सेंट्रल रेलवे ने किसानों को वापस भेजने के लिए दो स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है 

  • 17:18(IST)
  • 16:13(IST)

    सरकार लिखित तौर पर किसानों को भरोसा देगी. उम्मीद है कि अगले दो महीने में महाराष्ट्र सरकार इन मांगों को पूरा करेगी. किसानों का आंदोलन जल्द वापस लिया जा सकता है. लिहाजा किसानों को मुंबई से वापस भेजने के लिए राज्य सरकार स्पेशल ट्रेन का इंतजाम करेगी.  

  • 16:09(IST)

    महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बातचीत में किसानों की मांगें मानने का भरोसा जताया है. इसके बाद उम्मीद की जा रही है कि किसान अपना आंदोलन वापस ले लेंगे.  

  • 16:09(IST)

    महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बातचीत में किसानों की मांगें मानने का भरोसा जताया है. इसके बाद उम्मीद की जा रही है कि किसान अपना आंदोलन वापस ले लेंगे.  

  • 14:45(IST)

    मुंबई के पॉपुलर डब्बावाले भी आंदोलनकारी किसानों का समर्थन कर रहे हैं. आजाद मैदान में आंदोलनकारियों को डब्बा वाले खाना मुहैया करा रहे हैं. स्थानीय लोगों के साथ मिलकर ये डब्बावाले किसानों को खाना-पानी दे रहे हैं. दादर और कोलाबाड के बीच डब्बावाले खाना और पानी जुटाकर किसानों में बांट रहे हैं. 'रोटी बैंक' पहल के तहत डब्बावाले किसानों का ख्याल रख रहे हैं. 

  • 13:56(IST)

    किसान प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बोले- किसानों की समस्याओं को हल करने की दिशा में सरकार काम कर रही है. मोर्च के पहले दिन से सरकार किसानों से बात कर रही है. सरकार के एक मंत्री गिरीश महाजन उनसे इस मुद्दे पर लगातार बातचीत कर रहे हैं

  • 13:53(IST)

    बीजेपी के नेता राम कदम ने सीएनएन-न्यूज़ 18 से बातचीत में कहा कि महाराष्ट्र सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है. और वो उनकी समस्याओं और जरूरतों को सुनकर उसे हल करने की दिशा में काम करेगी

  • 13:45(IST)

  • 13:30(IST)

  • 13:29(IST)

    किसान मोर्चा में आए किसान अपने साथ छोटा सोलर पैनल लेकर आए हैं. इसकी मदद से वो अपने मोबाइल फोन को चार्ज कर रहे हैं

  • 13:14(IST)

    मंत्रालय में इस वक्त किसानों के प्रतिनिधियों और मुख्यमंत्री देवेद्र फडणवीस के बीच मुलाकात हो रही है

  • 13:07(IST)

    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मिलने मंत्रालय पहुंचा है किसानों का प्रतिनिधिमंडल. किसानों की मांग है कि सरकार उनकी कर्ज पूरी तरह से माफ करे, फसलों की बेहतर कीमत मिले, उन्हें जंगलों के जमीनों का पट्टा दिया जाए. इसके अलावा भी उनकी कई मांगें हैं

  • 13:04(IST)

  • 13:00(IST)

    महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन ने कहा कि 'किसानों की 80-90 प्रतिशत मांगों को मान लिया जाएगा. हम उनके लिए जहां तक संभव हो सकेगा वो करेंगे. किसानों की जिन मांगों पर सहमति बनेगी सरकार उसको लिखित में भी देगी'

  • 12:56(IST)

    बीजेपी की सांसद पूनम महाजन ने किसानों के आंदोलन को 'शहरी माओवादियों' की साजिश करार दिया है

  • 12:55(IST)

  • 12:37(IST)

    एआईकेएस ने किसान मोर्चे की आज सुबह की एक तस्वीर ट्वीट की है. तस्वीर में किसान कतारबद्ध होकर शांतिपूर्वक मुंबई के आजाद मैदान के लिए मार्च कर रहे हैं 

  • 12:35(IST)

    हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में आंदोलनकारी किसानों ने कहा है कि लगभग एक हफ्ते से चलते रहने के कारण वो थकान के शिकार हो गए हैं. बीड जिले से आए किसान परशुराम गायकवाड़ ने कहा, 'हम लोग अपनी मांगें माने जाने तक विधानसभा का घेराव करेंगे. हम थक चुके हैं और चलते रहने के कारण हमारे पांव सूज गए हैं लेकिन हम अपनी मंजिल के इतने करीब आकर पीछे नहीं हटेंगे'

  • 12:32(IST)

    किसान मोर्चा पर ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) ने ट्वीट कर नरेंद्र मोदी सरकार पर तंज कसा है

  • 12:15(IST)

    सीएम फडणवीस ने कहा है कि वो किसानों की समस्याओं को समझ रहे हैं. लेकिन उन्होंने ये भी कहा है कि प्रदर्शनकारी तकनीकी तौर पर किसान नहीं हैं. 

  • 12:03(IST)

    महाराष्ट्र के सीएम देवेन्द्र फडणवीस ने विधानसभा में कहा है कि प्रदर्शनकारियों में 95 फीसदी आदिवासी हैं और ऐसे में वो तकनीकी तौर पर किसान नहीं हैं. उन्होंने कहा कि वो 1 बजे किसानों से मिलेंगे. कैबिनेट मंत्री किसानों की मांग पर गौर कर रहे हैं.

  • 11:41(IST)

  • 11:40(IST)

    नासिक और उसके आसपास से मुंबई आए किसानों के लिए आजाद मैदान में खाना बांटा जा रहा है. यहां 30 हजार से ज्यादा किसान और आदिवासी अपनी मांगों के साथ पहुंचे हैं

  • 11:38(IST)

    पहले किसानों के प्रतिनिधियों के साथ मुखयमंत्री फडणवीस दोपहर 12 बजे मिलने वाले थे लेकिन अब इस कार्यक्रम में बदलाव हुआ है और वो दोपहर 2 बजे इनसे मुलाकात करेंगे.

  • 11:32(IST)

    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस दोपहर 2 बजे किसानों के प्रतिनिधिमंडल से मंत्रालय में मिलेंगे. किसानों का कहना है कि वो सरकार से चर्चा करेंगे लेकिन साथ ही उनका मोर्चा भी चलता रहेगा. इस बीच विधानसभा में आज की कार्यवाही शुरू हो गई है. महाराष्ट्र विधानसभा में अभी बजट सत्र चल रहा है

  • 11:03(IST)

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) के इस मोर्चे का समर्थन किया है. राहुल ने कहा कि किसानों की समस्या अकेले महाराष्ट्र की नहीं है बल्कि यह पूरे देश की समस्या है

  • 11:01(IST)

    किसानों की महारैली को देखते हुए मुंबई में आजाद मैदान के ईर्द-गिर्द और महाराष्ट्र विधानसभा के आसपास सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है

  • 10:58(IST)

    मोर्चा निकालने के दौरान जो किसान घायल हो गए हैं या जो बीमार हुए हैं उनके लिए आजाद मैदान में मेडिकल कैंप लगाए गए हैं

  • 10:53(IST)

LIVE मुंबई में किसानों की महारैली: फडणवीस के भरोसे पर खत्म हुआ किसान आंदोलन

अपडेट 6: महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बातचीत में किसानों की मांगें मानने का भरोसा जताया है. इसके बाद उम्मीद की जा रही है कि किसान अपना आंदोलन वापस ले लेंगे.

अपडेट 5: महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की अध्यक्षता में विधान भवन में किसानों के प्रतिनिधि की बातचीत शुरू हुई

अपडेट 4: महाराष्ट्र सिर्फ शुरुआत है,  दिल्ली में दिखेगा असली रंग  देशभर किसान संगठनों के नेता महाराष्ट्र की तरह एक मेगा रैली की तैयारी कर रहे हैं. यह रैली अप्रैल में दिल्ली में  सकती है. पूर्वोत्तर में किसानों के अधिकार के लिए काम करने वाले अखिल गोगोई ने कहा, 'यह सरकार किसानों के खिलाफ काम कर रही है, जिसे चुनौती देना जरूरी है. हम जल्दी ही इसी तरह की एक रैली गुवाहाटी में करेंगेराज्य के किसान आपस में मिलजुल कर इसी तरह की एक रैली दिल्ली में करने की योजना बना रहे हैं.'

अपडेट 4: किसान प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बोले- किसानों की समस्याओं को हल करने की दिशा में सरकार काम कर रही है. मोर्च के पहले दिन से सरकार किसानों से बात कर रही है. सरकार के एक मंत्री गिरीश महाजन उनसे इस मुद्दे पर लगातार बातचीत कर रहे हैं

अपडेट 3: महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन ने कहा कि 'किसानों की 80-90 प्रतिशत मांगों को मान लिया जाएगा. हम उनके लिए जहां तक संभव हो सकेगा वो करेंगे. किसानों की जिन मांगों पर सहमति बनेगी सरकार उसको लिखित में भी देगी'

अपडेट 2: आंदोलनकारी किसानों ने कहा है कि लगभग एक हफ्ते से चलते रहने के कारण वो थकान के शिकार हो गए हैं. बीड जिले से आए किसान परशुराम गायकवाड़ ने कहा, 'हम लोग अपनी मांगें माने जाने तक विधानसभा का घेराव करेंगे. हम थक चुके हैं और चलते रहने के कारण हमारे पांव सूज गए हैं लेकिन हम अपनी मंजिल के इतने करीब आकर पीछे नहीं हटेंगे'

अपडेट 1: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस दोपहर 2 बजे किसानों के प्रतिनिधिमंडल से मंत्रालय में मिलेंगे. किसानों का कहना है कि वो सरकार से चर्चा करेंगे लेकिन साथ ही उनका मोर्चा भी चलता रहेगा. इस बीच विधानसभा में आज की कार्यवाही शुरू हो गई है. महाराष्ट्र विधानसभा में अभी बजट सत्र चल रहा है

नासिक से चलकर मुंबई पहुंचा 30 हजार से अधिक किसानों का मोर्चा आज यानी सोमवार को विधानसभा का घेराव करेगा. हजारों किसान मुंबई के आजाद मैदान में जुटे हैं. दिन चढ़ने के साथ यहां से वो सब विधानसभा के लिए मार्च करेंगे.

किसानों का यह मोर्चा ऐसे समय में निकल रहा है जब महाराष्ट्र विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है. किसान सरकार की वादाखिलाफी से नाराज हैं. वो कर्ज माफी, कृषि समस्याएं और जंगल की जमीन का पट्टा दिए जाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर यह मार्च निकाल रहे हैं.

आंदोलनकारी किसानों का आरोप है कि सरकार ने सिर्फ कर्ज माफी की घोषणा भर की है जबकि किसानों के सिर पर अभी भी कर्ज है.

मुंबई में आज दसवीं की परीक्षा हैं इसलिए उनके मोर्चा और रैली की वजह से शहर में जाम की समस्या पैदा न हो यह ध्यान में रखकर सोमैया ग्राउंड में रूके किसानों ने रात में ही चलना शुरू कर दिया और आज सुबह वो सब आजाद मैदान पहुंचे.

किसानों की महारैली को देखते हुए मुंबई ट्रैफिक पुलिस मुस्तैद है. हालांकि इस वजह से किसी भी सड़क को बंद नहीं किया गया है

बीएमसी ने आंदोलनकारी किसानों के लिए अपनी ओर से व्यवस्था किया है. आजाद मैदान में अस्थाई रूप से 40 से अधिक मोबाइल टॉयलेट लगाए गए हैं साथ ही वहां पीने के लिए पानी का भी इंतजाम किया गया है.

इससे पहले, रविवार को मुंबई पहुंचने पर कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने किसानों से मुलाकात की थी. कांग्रेस और एनसीपी ने किसानों के मोर्चे को अपना समर्थन दिया है.

नासिक से मुंबई तक का लगभग 180 किलोमीटर लंबा विरोध मार्च सीपीएम की महाराष्ट्र ईकाई अखिल भारतीय किसान सभ (एआईकेएस) के बैनर तले निकाला जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi