S M L

26/11 हमले में जिंदा बचा मोशे होलत्जबर्ग मुंबई आने को है बेताब

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ मोशे 14 जनवरी को भारत आ रहा है. उसके माता-पिता मुंबई आतंकी हमले में मारे गए थे

Updated On: Jan 08, 2018 04:04 PM IST

FP Staff

0
26/11 हमले में जिंदा बचा मोशे होलत्जबर्ग मुंबई आने को है बेताब

26/11 के मुंबई आतंकी हमले में जिंदा बच गए मोशे होलत्जबर्ग भारत आने को लेकर काफी भावुक और उत्साहित है. इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ मोशे 4 दिन की यात्रा पर अगले हफ्ते भारत आ रहा है.

मोशे जिसकी उम्र अभी 11 साल है, 2008 के आतंकवादी हमले के वक्त केवल दो साल का था. मुंबई के चाबद हाउस (नरीमन हाउस) पर हुए हमले में उसके माता-पिता मारे गए थे. वो उनके शव के बीच रोता हुआ खड़ा मिला था. उसे उसकी भारतीय नैनी सैंड्रा सैमुअल ने बहादुरी दिखाकर बचाया था.

26 नवंबर, 2008 को मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी.

मोशे के नाना रब्बी रोजेनबर्ग ने कहा, '15 जनवरी को मुंबई जाने को लेकर मोशे काफी उत्साहित और भावुक है. वो अपने जन्म स्थान पर लौट रहा है. वो अपने माता-पिता से जुड़ी कई यादों को देखना चाहता है, जिसे वो अब तक मुझसे या अपनी नैनी से सुनता आया है.

MUMBAI ATTACK

पीएम मोदी से मुलाकात में भावुक मोशे ने मुंबई आने की इच्छा जाहिर की थी 

पिछले साल 5 जुलाई को यरुशलम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात में भावुक मोशे ने मुंबई आने की इच्छा जाहिर की थी. मोशे ने कहा था, 'मुझे उम्मीद है कि मैं मुंबई की यात्रा कर सकूंगा और बड़े होने पर वहां रह भी सकूंगा. मैं अपने चाबद हाउस का निदेशक भी बनूंगा.'

इसपर मोदी ने कहा था, 'भारत आओ और मुंबई में रहो. तुम्हारा बहुत स्वागत है. आप को और आपके परिवार को लंबे समय तक रहने का वीजा मिलेगा. जिससे कि आप कभी भी आ सकते हैं और कहीं भी जा सकते हैं.'

इजरायली पीएम नेतन्याहू ने तब मोशे को कहा था कि वो उनके साथ भारत आ सकता है. अपने उसी वादे को निभाते हुए उन्होंने मोशे परिवार को अपने साथ 14 जनवरी से शुरू होने वाले अपने भारत दौरे में लेकर आएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi