S M L

रेप केस में जेल में बंद गायत्री प्रजापति से मिले मुलायम

लखनऊ जिला जेल में मंगलवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पहुंचे.

Updated On: Jun 27, 2017 02:51 PM IST

FP Staff

0
रेप केस में जेल में बंद गायत्री प्रजापति से मिले मुलायम

लखनऊ जिला जेल में मंगलवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पहुंचे. यहां उन्होंने बलात्कार और पॉक्सो एक्ट में बंद अखिलेश सरकार के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति से मुलाकात की.

मुलायम की गायत्री से मुलाकात को लेकर कई सियासी अर्थ निकाले जा रहे हैं. दरअसल अखिलेश सरकार के दौरान मंत्री पद से बर्खास्त किए गए गायत्री को मुलायम के ही हस्तक्षेप के बाद दोबारा मंत्री पद मिला था. यही नहीं सपा में वर्चस्व की जंग के दौरान भी गायत्री अखिलेश के खिलाफ मुलायम के पाले में खड़े नजर आते थे.

सोमवार को भी मुलायम सिंह यादव के जेल पहुंचने का कार्यक्रम था. लेकिन जेल प्रशासन ने मुलाकात की अनुमति नहीं दी थी. जानकारी के अनुसार जेल प्रशासन की आरे से ईद के दिन छुट्टी होने की वजह से मिलने की इजाजत न देने की बात कही गई थी. इस कारण जेल प्रशासन ने अपनी असमर्थता जता दी.

उधर पुलिस जल्द ही लखनऊ जेल में बंद सपा के पूर्व कद्दावर मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति सहित उनके सात सहयोगियों के खिलाफ 3 जुलाई को गैंगरेप केस में आरोप तय करने की तैयारी में है. इस केस की सुनवाई पॉक्सो एक्ट की विशेष अदालत में चल रही है.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद 18 फरवरी 2017 को थाना गौतमपल्ली पर पीड़ित महिला की प्राथमिकी दर्ज की गई थी. जिसमें महिला ने आरोप लगाया कि उसके साथ अक्टूबर 2014 से जुलाई 2016 तक गैंगरेप किया गया और जब उन लोगों ने उसकी नाबालिग बेटी पर नजर डाली तो उसने प्राथमिकी लिखाई.

विवेचना के बाद पुलिस ने करीब 824 पन्नों का आरोपपत्र कोर्ट में दाखिल किया था. जिसमें कुल 24 लोगों को गवाह बनाया गया. पूर्व मंत्री गायत्री उनके गनर चंद्रपाल, पीआरओ रूपेश्वर उर्फ रूपेश, लेखपाल अशोक तिवारी, एक सीनियर पीसीएस अधिकारी के बेटे विकास वर्मा, पूर्व मंत्री के करीबी अमरेंद्र सिंह और आशीष शुक्ला को आईपीसी की धारा 376डी, 354, 504, 506 और 509 के तहत आरोपपत्र पेश किया गया है. वहीं गायत्री, अमरेंद्र, अशोक और आशीष के ऊपर पॉक्सो एक्ट भी लगाया गया है.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi