S M L

मोटर इंश्योरेंस की अवधि में होगा बदलाव, सुप्रीम कोर्ट ने दिया था सुझाव

सुप्रीम कोर्ट कमेटी ने रोड सेफ्टी पर सुझाव देते हुए कहा था कि बीमा कंपनियों को इंश्योरेंस की वैधता में बदलाव कर इसकी समयसीमा बढ़ानी चाहिए. दोपहिया वाहनों को पांच साल और चार पहिया वाहनों को तीन साल का इंश्योरेंस करना चाहिए

FP Staff Updated On: Jun 03, 2018 12:55 PM IST

0
मोटर इंश्योरेंस की अवधि में होगा बदलाव, सुप्रीम कोर्ट ने दिया था सुझाव

कार और दोपहिया वाहनों के लिए मोटर थर्ड पार्टी (MTP) इंश्योरेंस पॉलिसी में बदलाव करने की चर्चा शुरू हो गई है. जल्द, इस पॉलिसी में बदलाव कर इंश्योरेंस की वैधता को बढ़ा दिया जाएगा. इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने इस पॉलिसी के तहत वाहनों की संख्या बढ़ाने के लिए यह कदम उठाने का फैसला किया है.

द हिंदू के मुताबिक, IRDAI का यह फैसला ऐसे समय में सामने आया है जब सुप्रीम कोर्ट कमेटी ने रोड सेफ्टी पर सुझाव देते हुए कहा था कि बीमा कंपनियों को इंश्योरेंस की वैधता में बदलाव कर इसकी समयसीमा बढ़ानी चाहिए. दोपहिया वाहनों को पांच साल और चार पहिया वाहनों को तीन साल का इंश्योरेंस करना चाहिए.

IRDAI ने भी इस पर सुझाव देते हुए कहा कि थर्ड पार्टी पॉलिसी की वैधता बढ़ाने से इंश्योरेंस करवाने वालों को सीधा फायदा होगा.

अनुमान के मुताबिक, भारत की सड़कों पर चलने वाले 50 प्रतिशत वाहनों के पास मोटर थर्ड पार्टी नहीं है, जबकि यह कानून के मुताबिक अनिवार्य है. थर्ड पार्टी कवर इंश्योरेंस का एक प्रकार है, इसे अभी प्रत्येक वर्ष रिन्यू करवाया जाता है. एमटीपी के वैधता को बढ़ाने के पीछ ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसके अंदर लाना है और प्रत्येक वर्ष रिन्यू करवाने से झंझट को खत्म करना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi