S M L

मुंबई में भारी बारिश: याद है 2005 का वो खौफनाक मंजर?

इस बाढ़ में पूरे महाराष्ट्र में लगभग 1100 लोगों की मौत हो गई थी

Updated On: Aug 29, 2017 05:28 PM IST

FP Staff

0
मुंबई में भारी बारिश: याद है 2005 का वो खौफनाक मंजर?

मुंबई में हो रही भारी बारिश ने 2005 के बाढ़ की याद ताजा कर दी है. जगह-जगह जलजमाव हो चुका है और लोग बाहर निकलने से कतरा रहे हैं.

मौसम विभाग ने कहा है कि अगले 48 घंटों तक भारी बारिश हो सकती है इसलिए लोग अपने घरों से बहार न निकलें. बीएमसी ने भी कहा है कि वो किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.

2005 में तेज आंधी के साथ मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में भारी बारिश हुई थी. बारिश इतनी ज्यादा हुई कि पूरे महानगर में बाढ़ आ गई और लोग जहां-तहां फंस गए.

इस बाढ़ में पूरे महाराष्ट्र में लगभग 1100 लोगों की मौत हो गई थी. यह पूरा वाकया 26 जुलाई को हुआ था जब रिकॉर्ड 944 मिलीमीटर बारिश हुई थी. कई लोग सड़क पर ही फंस गए तो काफी सारे लोगों को काम से वापस अपने घर तक कई किलोमीटर वापस पैदल ही जाना पड़ा.

26 जुलाई को दोपहर से ही ट्रैक पर पानी भरने के कारण लोकल ट्रेन बंद कर दी गई थीं. इसके बाद सड़क पर ट्रैफिक बहुत बढ़ गया. जलजमाव और भारी दबाव के चलते पूरे शहर में जाम लग गया.

कई स्कूली बच्चे 24 घंटों तक घर नहीं जा सके

सिर्फ काम पर जाने वाले पेशेवर ही नहीं बल्कि कई स्कूली और कॉलेज छात्र भी इसमें फंस गए. कई तो 24 घंटे से ज्यादा समय तक वापस घर नहीं जा सके. मुंबई के छत्रपति शिवाजी हवाईअड्डे को 30 घंटे से ज्यादा समय तक बंद रखना पड़ा. इसके कारण 700 से ज्यादा फ्लाइट्स को कैंसिल करना पड़ा.

भारी बारिश के कारण मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर भूस्खलन की भी घटनाएं हुईं जिसके बाद इसे भी बंद करना पड़ा. ऐसी हालत में किसी बीमारी के फैलने की आशंका भी बढ़ गई. पानी के लाइन भी जलजमाव के कारण संक्रमित होते चुके थे. सरकार ने पानी में क्लोरीन का इस्तेमाल कर पानी को साफ करने का काम किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi