S M L

2018 में सीजफायर उल्लंघन की 1000 से अधिक घटनाएं हुईं

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघनों का इस्तेमाल आतंकवादियों की घुसपैठ में सहायता प्रदान करने के लिए किया जा रहा है

Updated On: Jun 08, 2018 11:45 AM IST

Bhasha

0
2018 में सीजफायर उल्लंघन की 1000 से अधिक घटनाएं हुईं

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान की ओर से इस वर्ष संघर्षविराम उल्लंघन की 1000 से अधिक घटनाएं हुई हैं. भारत उम्मीद करता है कि पाकिस्तान 2003 के संघर्षविराम समझौते का पालन करेगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघनों का इस्तेमाल आतंकवादियों की घुसपैठ में सहायता प्रदान करने के लिए किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि सीमा पर जब भी बिना उकसावे का कोई हमला होता है तो पाकिस्तानी पक्ष के साथ मामले को मजबूती से उठाया जाता है क्योंकि इसमें जानमाल का नुकसान जुड़ा होता है.

उन्होंने एक सवाल के उत्तर में कहा,‘अकेले 2018 में पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की 1000 से अधिक घटनाएं हुई हैं. हमारा यह कहना है कि पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन का इस्तेमाल आतंकवादियों की हमारे क्षेत्र में घुसपैठ को कवर देने के लिए किया जाता है और हमने पूर्व में ऐसी घुसपैठों के परिणाम देखे हैं. हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान को इसका अहसास होगा कि वह क्या कर रहा है और वह 2003 के संघर्षविराम समझौते का पालन करेगा.’

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की यह टिप्पणी एक आतंकवादी हमले की पृष्ठभूमि में आई है, जिसमें जम्मू कश्मीर के केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास गश्त कर रहे दो सैनिक घायल हो गए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi