S M L

UP: 14 दिन के मासूम बच्चे को मां की गोद से छीनकर बंदर ने मार डाला

नन्हें आरुष की मौत से उसके घर और पूरे मोहल्ले में मातम पसर गया है. उसकी मां नेहा उसे याद कर बार-बार बेहोश हो जा रही है. जबकि उसके पिता योगेश का भी रो-रोकर बुरा हाल है

Updated On: Nov 13, 2018 03:15 PM IST

FP Staff

0
UP: 14 दिन के मासूम बच्चे को मां की गोद से छीनकर बंदर ने मार डाला

यूपी के आगरा में दिनों-दिन बंदरों का बढ़ता आतंक जानलेवा बनता जा रहा है. यहां एक बंदर के मां की गोद में दूध पी रहे 14 दिन के बच्चे को मार डालने का मामला सामने आया है. मिली जानकारी के अनुसार यह महिला कमरे के अंदर बच्चे को दूध पिला रही थी. तभी अचानक कहीं से एक बंदर आया और उसने बच्चे को जकड़ लिया और उसकी गर्दन पर दांत गड़ा दिए. फिर शव को एक मकान के छत पर छोड़कर भाग गया.

सबको हैरान कर देने वाली यह घटना सोमवार रात की है. रुनकता कस्बे के मोहल्ला कचहरा थोक निवासी ऑटो चालक योगेश की पत्नी नेहा अपने बेटे आरुष उर्फ सनी को घर के कमरे में दूध पिला रही थी. घर का मेन गेट खुला था और कमरे का दरवाजा भी बंद नहीं था. इतने में अचानक एक बंदर वहां घुस आया. जब तक नेहा कुछ समझती बंदर ने झपट्टा मारकर बच्चे की छीन लिया. इसके बाद बंदर ने नेहा के सामने ही बच्चे के गले पर दांत गड़ा दिए. फिर अपने मुंह में बच्चे को दबाकर ले भागा.

नेहा की चीख-पुकार सुनकर घरवाले और आस-पड़ोस के लोग वहां जुट गए. उन्होंने बंदर का पीछा किया तो घबराकर वो बच्चे को एक मकान की छत पर छोड़कर भाग गया. मगर तब तक बच्चे का शरीर निर्जीव पड़ चुका था. बच्चे के परिजन उसे आनन-फानन अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. परिवारवालों को यकीन नहीं हुआ इसलिए वो उसे लेकर एक अन्य अस्पताल गए, यहां भी डॉक्टरों ने वही जवाब दिया.

आगरा में बंदरों का उत्पात और आतंक काफी बढ़ गया है इससे यहां रहने वाले लोग काफी परेशान हैं

आगरा में बंदरों का उत्पात और आतंक काफी बढ़ गया है इससे यहां रहने वाले लोग काफी परेशान हैं

इकलौते बेटे को याद कर माता-पिता हो जा रहे हैं बेहाल

आरुष की मौत से घर और पूरे मोहल्ले में मातम पसर गया है. उसकी मां नेहा उसे याद कर बार-बार बेहोश हो जा रही है. जबकि उसके पिता योगेश का भी रो-रोकर बुरा हाल है. योगेश और नेही की 2016 में शादी हुई थी. आरुष उनकी इकलौती औलाद था.

बता दें कि आगरा में बंदरों के उत्पात और आतंक का यह कोई अकेला मामला नहीं है. पिछले हफ्ते भी यहां बंदर ने एक महीने की बच्ची को काट खाया था. बच्ची के लहूलुहान और रोने के बाद वो भाग गया था. बच्ची का अस्पताल में इलाज जारी है.

एक महीने पहले ही बंदरों का झुंड एक बाइक सवार के सामने आ गया था, जिसके बाद युवक की गिरकर मौत हो गई थी. जबकि पिछले साल बंदर ने एक युवक को धक्का दे दिया था, उसकी मौत हो गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi