S M L

4 से ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को पैसे देगा चर्च

लुंगलेई बाजार वेंग बैपटिस्ट चर्च ने हाल ही में कहा था कि चौथे बच्चे के लिए 4 हजार, पांचवें के लिए 5 हजार और इसी क्रम में आगे भी बच्चे पैदा करने पर पैसे दिए जाएंगे

Updated On: Jan 10, 2018 04:38 PM IST

FP Staff

0
4 से ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को पैसे देगा चर्च

ईसाइयों की बहुलता वाले राज्य मिजोरम में एक स्थानीय चर्च ने चार या चार से अधिक बच्चे पैदा करने वालों को प्रोत्साहन के तौर पर रुपए देने की घोषणा की है. लुंगलेई बाजार वेंग बैपटिस्ट चर्च ने हाल ही में कहा था कि चौथे बच्चे के लिए 4 हजार, पांचवें के लिए 5 हजार और इसी क्रम में आगे भी बच्चे पैदा करने पर पैसे दिए जाएंगे.

कैश प्रोत्साहनों की घोषणा करने वाले बाजार वेंग बैपटिस्ट चर्च के सचिव ने कहा कि पैसे देने की कोई ऊपरी सीमा तय नहीं की गई है. जितने अधिक बच्चे पैदा होंगे उनको उतना ज्यादा धन दिया जाएगा.

राज्य की प्रमुख जनजाति, मिजो के बीच कम जन्मदर मिजो संगठनों के साथ-साथ चर्चों के लिए भी चिंता का विषय बना हुआ है. प्रेस्बिचेरियन चर्च ऑफ इंडिया के मिजोरम ईकाई के वरिष्ठ सदस्य लालरामलीना पचुआ ने कहा कि हम अधिक बच्चे पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं. इसके साथ उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि प्रेस्बिटेरियन चर्च ने किसी नकद प्रोत्साहन की घोषणा नहीं की है. पचुआ का कहना है कि जब मिजो की आबादी पहले से कम है, तो जन्म दर भी कम हो रही है.

2011 की जनगणना के अनुसार, मिजोरम में जनसंख्या घनत्व 52 वर्ग प्रति वर्ग किलोमीटर है, जो देश में अरुणाचल प्रदेश के बाद सबसे कम है. मिजोरम की सांख्यिकीय पुस्तिका के मुताबिक, मौजूदा दशक में कुल जनसंख्या वृद्धि 23.48 प्रतिशत रही, जबकि इससे पहले के दशक में यह 29.18 प्रतिशत थी.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, पिचुआ ने कहा कि मिजोरम में विभिन्न समुदायों के चर्च हैं.कैथोलिक चर्च से लेकर बैपटिस्ट चर्च तक. सब इस नीति से सहमत हैं, हालांकि कुछ लोग इसे ज़ोर से नहीं कह सकते हैं. उन्होंने बताया कि कुछ इलाकों में विशेष रूप से मिजोरम के दक्षिण में शिशु मृत्यु दर बढ़ रही है. इसके पीछे के कारणों को हम नहीं जानते हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग की जांच हो रही है.

जनवरी 2015 और दिसंबर 2016 के बीच हुए चौथे राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण में पता चला कि मिजोरम में शिशु मृत्यु दर 2006 में 34 से बढ़कर 2016 में 40 हो गई. इसमें 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

मिजो के जीवन के सभी पहलुओं में चर्च एक महत्वपूर्ण और शक्तिशाली भूमिका निभाता है. मिजो समुदाय में 87 प्रतिशत ईसाई हैं. सभी शक्तिशाली प्रेस्बिटेरियन चर्च और बैपटिस्ट चर्च ऑफ मिज़ोरम ने बार-बार अपने सदस्यों से अपील करती है कि वे अधिक बच्चे पैदा करें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi