S M L

मिजोरम विधानसभा चुनाव: ये मुख्य चेहरे बदल सकते हैं राज्य का समीकरण

कांग्रेस ने 2013 में शानदार जीत का ललथनहवला को क्रेडिट दिया था. इन चुनावों में पार्टी में 40 में से 34 सीट जीती थीं

Updated On: Oct 31, 2018 08:18 PM IST

FP Staff

0
मिजोरम विधानसभा चुनाव: ये मुख्य चेहरे बदल सकते हैं राज्य का समीकरण
Loading...

लगातार 10 साल तक ऑफिस संभालने के बाद मुख्यमंत्री ललथनहवला इस बार कांग्रेस के मुख्य चेहरे के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं. 79 साल के ललथनहवला मिजोरम के पांच बार मुख्यमंत्री रह चके हैं. मिजोरम की राजनीति में ललथनहवला एक कद्दावर नेता के रूप में जाने जाते हैं. इससे पहले वहा 1984 से 1986 और 1989 से 1998 तक मुख्यमंत्री रह चुके हैं. वह सेरछिप और रंगतुर्जो सीट से चुने जाते हैं. उन्होंने तीन बार- 1978, 1979, 1984, 1987, 1993, 2003, 2008 और 2013 में चुनाव जीता है.

कांग्रेस ने 2013 में शानदार जीत का ललथनहवला को क्रेडिट दिया था. इन चुनावों में पार्टी में 40 में से 34 सीट जीती थीं. यह 2008 से दो सीट ज्यादा थीं. मुख्य विपक्षी दल मिजो नेशनल फ्रंट ने पांच सीट जीती थीं और मिजोरम पीपुल्स कॉन्फ्रेंस को 1 सीट पर जीत मिली थी.

डंपा विधानसभा से लालरोबिआका एक अन्य कांग्रेसी नेता जिनका मिजोरम में होने वाले चुनाव में बहुत प्रभाव है. रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले पांच साले में उनकी संपत्ति में 2,406 प्रतिशत बढ़ोत्तरी के चलते विवादों में आए थे.

मिजो नेशनल फ्रंट

मिजो नेशनल फ्रंट से विपक्षी वनललजवमा भी इन चुनावों में अहम रोल अदा करने वाले हैं. पूर्व लोकसभा सदस्य वनललजवमा इन चुनावों में आइजोल वेस्ट-3 सीट से दोबारा चुनाव लड़ेंगे.

मिजो नेशनल फ्रंट के प्रेसिडेंट और पूर्व मुख्यमंत्री, जोरमथंगा आइजोल ईस्ट-1 असेंबली से चुनाव लड़ेंगे. वह इन चुनाव में मुख्य भूमिका में रहेंगे.

इन चुनावों में नई पार्टियां भी अहम रोल निभाएंगी. Zoram Exodus Movement (ZEM) भी इस क्रम में एक नई पार्टी है जिसे वरिष्ठ पत्रकार और रिटायर्ड पुजारी ने बनाया है. ZNP और MPC इन चुनावों में जोरम पीपुल्स मूवमेंट के बैनर तले चुनाव लड़ेंगे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi