S M L

मनी लॉन्ड्रिंग केस: देश न छोड़ने की शर्त पर मीसा भारती और उनके पति को मिली जमानत

कोर्ट ने दोनों को बिना इजाजत देश छोड़कर नहीं जाने की शर्त पर जमानत दी है.

FP Staff Updated On: Mar 05, 2018 12:03 PM IST

0
मनी लॉन्ड्रिंग केस: देश न छोड़ने की शर्त पर मीसा भारती और उनके पति को मिली जमानत

लालू प्रसाद यादव की बेटी और आरजेडी सांसद मीसा भारती और मीसा के पति शैलेष यादव को सीबीआई कोर्ट से सशर्त जमानत मिल गई है. मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मीसा भारती और उनके पति सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के सामने सोमवार को पेश हुए थे, जिसके बाद उन्हें बेल मिल गई है. कोर्ट ने दोनों को बिना इजाजत देश छोड़कर नहीं जाने की शर्त पर जमानत दी है.

इधर जमानत पर रिहा हुईं मीसा भारती का कहना है कि मनी लांड्रिंग के लिए जांच दायरे में आई कंपनी को उनके पति और एक सीए चला रहा था. सीए की मृत्यु हो चुकी है. उनका कहना है कि कंपनी और इसके द्वारा खरीदे गए फार्म हाऊस संबधी सवालों का जवाब तो उनके पति और ‘दिवंगत सीए’ ही बेहतर दे सकते हैं.

वहीं प्रवर्तन निदेशालय कहना है कि मुखौटा कंपनियों के जरिए 1.2 करोड़ रुपए की मनी लांड्रिंग के षडयंत्र में मीसा भारती और शेलेश यादव सक्रिय रूप से शामिल थे.

ईडी ने इनके खिलाफ दिसंबर में एक भी चार्जशीट दाखिल की थी जिसमें मनी लॉन्ड्रिंग के लिए दोनों आरोपी बताया गया था.

क्या है मामला

केद्रींय जांच एजेंसी (सीबीआई) की जांच के मुताबिक फार्महाउस मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार का है. मेसर्स मिशेल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम से फार्महाउस की यह संपत्ति है. सीबीआई की जांच से पता चला कि फार्म हाउस 2008-09 में मनी लॉन्ड्रिंग में हासिल 1.2 करोड़ रुपए का इस्तेमाल कर खरीदा गया था.

हाल ही में ईडी ने कोर्ट के आदेश पर  मीसा भारती का फार्म हाउस जब्त कर लिया था. इसी के साथ  मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में ईडी अब उनकी अन्‍य संपत्तियों को भी जब्‍त करने की प्रक्रिया शुरू कर चुका है.

(एजेंसियों से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi