S M L

FB डेटा लीकः सरकार ने कैंब्रिज एनालिटिका को भेजा नोटिस, मांगा 7 दिनों में जवाब

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की तरफ से जारी नोटिस में सरकार ने कैंब्रिज एनालिटिका से 6 सवाल पूछे हैं, मंत्रालय ने कंपनी को जवाब देने के लिए 31 मार्च 2018 तक का समय दिया है

FP Staff Updated On: Mar 24, 2018 10:43 AM IST

0
FB डेटा लीकः सरकार ने कैंब्रिज एनालिटिका को भेजा नोटिस, मांगा 7 दिनों में जवाब

फेसबुक डेटा लीक मामले में भारत सरकार ने सख्त रुख अपनाते हुए इंग्लैंड की डेटा एनालिस्ट कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका को नोटिस भेजा है. सरकार ने नोटिस में पूछा है कि क्या उसने चुनावों को प्रभावित करने के लिए जानकारियों का गलत इस्तेमाल किया है या फेसबुक पर मौजूद भारतीयों के डेटा को खंगाला है.

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की तरफ से जारी नोटिस में सरकार ने कैंब्रिज एनालिटिका से 6 सवाल पूछे हैं. मंत्रालय ने कंपनी को जवाब देने के लिए 31 मार्च 2018 तक का समय दिया है.

मंत्रालय ने नोटिस में पूछा है कि अगर यूजर्स की जानकारियों को लिया गया तो वो कैसे लिया गया, इसका इस्तेमाल कहां हुआ और क्या यह उपयोगकर्ताओं की रजामंदी से लिया गया.

कैंब्रिज एनालिटिका को भेजे गए नोटिस में सरकार ने पूछा है कि क्या चुनावों को प्रभावित करने के लिए कंपनी भारतीयों का डेटा जुटाने में शामिल थी. अगर ऐसा है तो वो कौन लोग थे जिन्होंने कंपनी से ऐसा करने के लिए कहा था. साथ भी यह भी पूछा गया है कि कंपनी को डेटा कैसे मिला और उसका उपयोग कैसे किया गया.

मंत्रालय ने कैंब्रिज एनालिटिका से उसकी सेवा लेने वाली कंपनियों के नाम भी पूछे हैं. नोटिस में यह भी पूछा गया है कि क्या कंपनी भारतीयों के डाटा का इस्तेमाल कर रही है और क्या इस तरह के डेटा के आधार पर कोई प्रोफाइलिंग की गई थी?

कैंब्रिज एनालिटिका पर आरोप है कि कंपनी ने फेसबुक से गलत तरीके से 5 करोड़ यूजर्स की जानकारियां जुटाई थीं. यूजर्स के डेटा के आधार पर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों को प्रभावित करने का आरोप भी कंपनी पर लगा है. मामला सामने आने के बाद अमेरिका और इंग्लैंड की एजेंसियां फेसबुक और कैंब्रिज एनालिटिका की जांच कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi