S M L

MHT CET 2018: जानिए अांसर की, रिजल्ट, कटऑफ और काउंसिल की पूरी जानकारी

महाराष्ट्र में इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए इस बार की MHT CET परीक्षा में राज्यभर के कुल 361 कॉलेजों की कम से कम 1,38,226 सीट दांव पर लगी हैं

Surbhi Mehtani Updated On: May 12, 2018 09:18 AM IST

0
MHT CET 2018: जानिए अांसर की, रिजल्ट, कटऑफ और काउंसिल की पूरी जानकारी

10 मई का दिन महाराष्ट्र के उन हजारों-लाखों छात्रों के लिए काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा जिन्होंने इंजीनियरिंग और मेडिकल की राज्य स्तरीय प्रवेश-परीक्षा में हिस्सा लिया. इसी दिन राज्य की MHT CET परीक्षा संपन्न हुई. परीक्षा के लिए आवेदन भरने वाले छात्रों की संख्या तकरीबन 435606 रही, जबकि इन्हीं में से परीक्षा देने वालों छात्रों की संख्या घटकर 419186 ही रह गई थी.

इस बार की ऑफलाइन प्रवेश परीक्षा का आयोजन डायरेक्टोरेट ऑफ टेक्निकल एजुकेशन, (महाराष्ट्र) ने तीन सेशन में करवाया था. इनमें से सुबह की पाली में मैथ्स यानी गणित, और दोपहर की पाली में केमिस्ट्री, फिज़िक्स और बायोलॉजी की परीक्षा ली गई. इस परीक्षा में कुल चार सेट के प्रश्नपत्र थे- जिनकी कोड संख्या- 11, 22, 33 और 44 थी. ये परीक्षा राज्य के 36 जिलों के 1260 परीक्षा केंद्रों में 32000 सुरक्षा बलों की निगरानी में करवाया गया.

परीक्षा के बाद क्या?

इस बार की MHT CET परीक्षा में राज्यभर के कुल 361 कॉलेजों की कम से कम 1,38,226 सीट दांव पर लगी हैं. इनमें महाराष्ट्र राज्य के कई सरकारी कॉलेज, गर्वमेंट यूनिवर्सिटी कॉलेज, सरकारी सहायता प्राप्त प्राइवेट कॉलेज के अलावा सहायता विहीन प्राइवेट कॉलेज भी शामिल हैं. इन कॉलेजों में सीट पाना सबसे बड़ा लक्ष्य होता है और इस लक्ष्य को पाने के लिए जरूरी है कि हमें इनमें कुछ कॉलेजों को अपना मानक मानकर चलना चाहिए जो शुरू के दिनों में ही अगर ध्यान रखा जाए तो हासिल करना मुश्किल नहीं होगा.

उत्तर पत्र/ अांसर की

परीक्षा देने के बाद जो सबसे पहली बात दिमाग में आती है वो ये कि- ‘क्या मेरे उत्तर सही हैं, क्या मुझे उनमें अंक मिल पाएंगे, क्या मेरा जवाब ही सही जवाब है, इत्यादि’. ऐसे में MHT CET का उत्तर पत्र काफी मदद करता है. राज्य के ज़्यादातर कोचिंग सेंटरों ने पहले ही सारे सेट के उत्तर पत्रों को जारी कर दिया है. चूंकि, ये एक्सपर्ट्स हैं तो एक नजर डाला जा सकता है. हालांकि, अंतिम अधिकार तो DTE का ही है और उसका आधिकारिक उत्तर पत्र मई के अंतिम सप्ताह में किसी भी वक्त जारी किया जा सकता है.

अपने स्कोर का पता कैसे लगाएं?

• मैथ्स (पेपर I) – सही उत्तर की संख्या x 2 • फिजिक्स और केमिस्ट्री (पेपर II) - सही उत्तर की संख्या x 1 • टोटल = पेपर I + पेपर II का कुल स्कोर

एक बार आधिकारिक उत्तर-पत्र जारी हो जाने के बाद, परीक्षार्थी अपने दिए जवाब का उत्तर पत्र के साथ मिलान करने के बाद दिए हुए समय के भीतर अपनी शिकायत को आयोग के सामने उठा पाएंगे.

एडमिशन मिल पाएगा या नहीं, कैसे पता करें?

कटऑफ का पता करें

इसके लिए पिछले साल का MHT CET कटऑफ सबसे अच्छा मापदंड बन सकता है, जिसको देखकर विद्यार्थी ये पता लगा पेंगे कि उनके पास होने का चांस कितना है. ये एक बहुत ही जरूरी कदम होता है क्योंकि हर सब्जेक्ट, हर कैटेगरी और हर कॉलेज का अलग कटऑफ होता है. ये परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों की संख्या के आधार पर होता है.

टॉप कॉलेजों की पहचान करें

आपको किन कॉलेजों में जगह मिल सकती है उसके बारे में अंदाजा लगाना या उसकी पहचान पहले से करना हमेशा अच्छा होता है. ज्यादातर छात्र अपने घर के आस-पास के कॉलेज में एडमिशन चाहते हैं, जो सही सोच नहीं है. किसी भी कॉलेज का चुनाव उसकी अच्छी पढ़ाई-लिखाई, फैकल्टी, इंफ्रास्ट्रक्चर और रेटिंग के हिसाब से ही होनी चाहिए. इसका दूसरा तरीका, किसी एक विषय में- टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ महाराष्ट्र करके सर्च और रिसर्च करना भी होता है.

रिजल्ट का इंतजार?

एडमिशन के चांस का पता लगाने के बाद अगला कदम क्या होना चाहिए? इसका जवाब बेहद आसान है- आपको MHT CET के रिजल्ट की घोषणा का इंतजार करना चाहिए. ये रिजल्ट ऑनलाइन मोड में 3 जून को निकलने वाला है. अधिकारी MHT CET परीक्षा का रैंक या स्कोर कार्ड दोनों में से किसी भी एक को रिजल्ट की घोषणा करने के दौरान जारी कर सकता है. परीक्षार्थी अपना MHT CET रिजल्ट-2018, इसके वेबसाइट पर दिए हुए खाली जगह पर अपना नाम एप्लिकेशन नंबर, जन्मतिथि और सिक्योरिटी कोड डालकर स्क्रीन पर देख सकते हैं.

काउंसिलिंग- क्या, कहां और कैसे?

MHT CET- 2018 के लिए काउंसिलिंग जून के पहले हफ्ते से शुरू हो जाएगा. इसके लिए छात्रों को खुद को साइट पर रजिस्टर भी करना होगा. उन्हें वहां अपना कैंडिडेचर टाइप, कॉलेज की च्वाइस और क्या कोर्स लेकर आगे पढ़ना चाहते हैं उसकी जानकारी वहां शेयर करनी होगी. एक जरूरी बात ये है कि किसी भी छात्र को काउंसिलिंग के लिए अलग से फीस देने की जरूरत नहीं है, लेकिन जो छात्र JEE Main के रैंक के आधार पर यहां एडमिशन लेने आएंगे उन्हें अलग से काउंसिलिंग फीस देनी होगी.

इस प्रक्रिया में डॉक्यूमेंट का वेरिफिकेशन किया जाएगा उसके बाद ही छात्रों को मेरिट के आधार पर एलॉटमेंट किया जाएगा. काउंसिलिंग और सीट एलॉटमेंट सेंट्रलाईज़्ड एलॉटमेंट की प्रक्रिया के तहत किया जाएगा जिसे आम बोलचाल की भाषा में कैप (CAP) कहा जाता है. यहां छात्रों को अपना सीट फ्रीज करने, फ्लोट करने (कन्फर्म लेकिन अपग्रेड करने या बेहतर विकल्प के लिए खुला छोड़ने) या विड्रॉ या हटा लेने की सुविधा दी जाएगी.

MHT CET 2018 के बारे में किसी सवाल के जवाब या जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi