S M L

पत्रकार गौरव सावंत पर यौन शोषण का आरोप, कहा- मैं गलत नहीं, कानूनी कार्रवाई करूंगा

‘द कारवां’ पत्रिका में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक विद्या कृष्णन ने 15 साल पहले हुए इस मामले के बारे में बताते हुए कहा कि एक असाइनंगमेंट के दौरान गौरव ने उनके साथ छेड़छाड़ की थी

Updated On: Nov 15, 2018 01:13 PM IST

FP Staff

0
पत्रकार गौरव सावंत पर यौन शोषण का आरोप, कहा- मैं गलत नहीं, कानूनी कार्रवाई करूंगा

इंडिया टुडे के कार्यकारी संपादक और मशहूर टीवी एंकर गौरव सावंत पर ‘द हिंदू’ अखबार की पूर्व हेल्थ एडिटर विद्या कृष्णन ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. ‘द कारवां’ पत्रिका में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक विद्या कृष्णन ने 15 साल पहले हुए इस मामले के बारे में बताते हुए कहा कि एक असाइनमेंट के दौरान गौरव ने उनके साथ छेड़छाड़ की थी.

साल 2003 में जब यह घटना हुई तब वह 21 साल की थीं

द कारवां में प्रकाशित निकिता सक्सेना की रिपोर्ट में विद्या ने बताया कि साल 2003 में जब यह घटना हुई तब वह 21 साल की थीं. उस वक्त उन्होंने ‘द पॉयनियर’ अखबार ट्रेनी के रूप में ज्वाइन किया था और पंजाब में एक असाइनमेंट के दौरान पहले से डिफेंस पत्रकार के तौर पर ख्याति पा चुके सावंत ने उन्हें गलत तरीके से छूने की कोशिश की थी. सावंत ने विद्या के कमरे में घुसकर उनके साथ बदसलूकी भी की थी.

सावंत ने ट्वीट किया लेख ‘गैर जिम्मेदार, आधारहीन व पूरी तरह से झूठ है

विद्या कृष्णन के आरोप पर इंडिया टुडे में बतौर कार्यकारी संपादक कार्यरत सावंत ने ट्वीट किया है कि द कारवां में प्रकाशित लेख ‘गैर जिम्मेदार, आधारहीन और पूरी तरह से झूठ है.’ साथ ही उन्होंने लिखा है, ‘मैं मेरे वकीलों से बात कर रहा हूं और इस पर कानूनी कदम जरूर उठाऊंगा. मेरा सहयोग करने के लिए मेरे परिवार, दोस्त और दर्शकों का आभारी हूं.’ इसके अलावा उन्होंने लिखा है कि द कारवां, निकिता सक्सेना और विद्या कृष्णन को मानहानि का नोटिस भेज दिया गया है.

सावंत से इस मामले पर अपना पक्ष रखने के लिए कहा गया है

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले पर इंडिया टुडे ने कहा है, ‘दुर्भाग्यवश हम इस मामले पर किसी तरह की टिप्पणी नहीं कर सकते और न ही इसकी जांच कर सकते हैं, क्योंकि साल 2003 में सावंत हमारे साथ काम नहीं करते थे. हालांकि, सावंत से इस मामले पर अपना पक्ष रखने के लिए कहा गया है. उन्होंने इस पूरे मामले का खंडन करने के साथ हमें बताया कि वह कानूनी कार्रवाई के लिए अपने वकीलों से सलाह ले रहे हैं.’ वहीं विद्या कृष्णन ने कारवां मैगजीन में छपे उनके आर्टिकल पर अपना बयान जारी किया है.

दिल्ली से बाहर उनका यह पहला असाइनमेंट था

वहीं विद्या कृष्णन ने बताया कि वह पंजाब के व्यास शहर में भारतीय सेना द्वारा आयोजित कार्यक्रम कवर करने गई थीं. दिल्ली से बाहर उनका यह पहला असाइनमेंट था, तब सावंत भी उनके साथ उस ट्रिप पर थे. विद्या ने उस वक्त न ही द पॉयनियर प्रबंधन से शिकायत की थी और न ही पॉयनियर के संपादक और पूर्व राज्यसभा सांसद चंदन मित्रा से इस बारे में संपर्क करना चाहा था. विद्या ने बताया कि उन्होंने सावंत का नाम नहीं लिया इसके पीछे उनकी केवल पेशेवर मजबूरियां ही नहीं, बल्कि सामाजिक मजबूरियां भी थीं. वहीं हिंदुस्तान टाइम्स की वीकेंड एडिटर कनिका गहलौत ने भी इस मामले पर ट्वीट किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi