S M L

#MeToo का असर: नाइजीरिया दौरा बीच में छोड़ वापस देश लौट सकते हैं एमजे अकबर

#MeToo के तहत कई महिला पत्रकारों ने पुराने समय में किए गए अकबर के कृत्यों को सोशल मीडिया पर शेयर किया है. इसी के बाद सरकार ने उन्हें शुक्रवार की बजाय गुरुवार को ही देश लौटने के लिए कहा है

Updated On: Oct 11, 2018 11:53 AM IST

FP Staff

0
#MeToo का असर: नाइजीरिया दौरा बीच में छोड़ वापस देश लौट सकते हैं एमजे अकबर

यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर अपना नाइजीरिया दौरा बीच में छोड़कर ही गुरुवार को देश लौट सकते हैं. पूर्व पत्रकार रहे अकबर पर कई महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं. #MeToo के तहत कई महिला पत्रकारों ने पुराने समय में किए गए अकबर के कृत्यों को सोशल मीडिया पर शेयर किया है. इसी के बाद सरकार ने उन्हें शुक्रवार की बजाय गुरुवार को ही देश लौटने के लिए कहा है.

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार और पार्टी के एक बड़े अधिकारी ने बताया कि अकबर के भविष्य पर सोच समझ कर फैसला लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि मामला अभी विचाराधीन है लेकिन उनका जवाब भी महत्वपूर्ण है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस मसले पर बीजेपी और सरकार के बीच भी चर्चा हुई है.

उन्होंने कहा कि निर्णय लेने में हमें सावधानी बरतनी होगी. हम नहीं चाहते हैं कि इसमें घुटने टेकने जैसी प्रतिक्रिया हो. यह महिलाओं की सुरक्षा के बारे में है जो प्रधानमंत्री के लिए एक महत्वपूर्ण मुद्दा है, इसलिए इसे अनदेखा नहीं किया जा सकता है. अधिकारी ने कहा कि अकबर पर लगाए गए कुछ मामले बहुत ही गंभीर हैं.

अकबर पर लग रहे आरोप पार्टी के लिए चिंता का विषय

मामले पर नजर रख रहे पार्टी के एक नेता ने कहा कि उनके खिलाफ आवाज उठती ही जा रही है. अकबर के खिलाफ पत्रकारों और राजनीतिक दलों में उठ रही आवाज भी पार्टी के लिए चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि जब भी महिला और उनकी सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा आता है तब बीजेपी की कोशिश हमेशा एक अच्छी छवि पेश करने की होती है.

#MeToo अभियान के तहत कुछ महिला पत्रकारों ने अकबर पर आरोप लगाए हैं कि पत्रकार रहने के दौरान उन्होंने यौन उत्पीड़न किया था. इन आरोपों पर विदेश राज्य मंत्री अकबर की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

इस मामले ने राजनीतिक मोड़ तब ले लिया, जब कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच की मांग की. दूसरी तरफ, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस सवाल को टाल गईं कि क्या सरकार अकबर के खिलाफ कोई कार्रवाई करेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi