S M L

NID अहमदाबाद में #MeToo: शिक्षक ने दिया इस्तीफा, कैंपस में एंट्री पर भी लगी रोक

इंस्टीट्यूट ने फैसला किया है कि कृष्णेश मेहता को संस्थान के किसी भी अकादमिक कार्यवाही के साथ नहीं जोड़ा जाएगा

Updated On: Nov 03, 2018 01:54 PM IST

FP Staff

0
NID अहमदाबाद में #MeToo: शिक्षक ने दिया इस्तीफा, कैंपस में एंट्री पर भी लगी रोक
Loading...

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन (NID) अहमदाबाद में #metoo से जुड़ा एक मामला सामने आया है. इस मामले के चलते इंस्टीट्यूट के एक वरिष्ठ शिक्षक को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. साथ ही एनआईडी कैंपस में उनके प्रवेश पर भी रोक लगा दी गई है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक शिक्षक कृष्णेश मेहता एनआईडी अहमदाबाद में पिछले 25 सालों से इंटरडिसीप्लीनरी स्टडीज और इंडस्ट्रियल डिजाइन विषय पढ़ाते हैं. खबर है कि उन्हें इंस्टीट्यूट की इंक्वायिरी कमिटी ने टर्मिनेट कर दिया. उनके खिलाफ यौन शोषण के आरोप साबित होने के बाद कड़ी कार्रवाई की गई.

क्लास में यौन संबंधों के बारे में आउट ऑफ स्लेबस जाकर बात करते थे

गत 5 अक्टूबर 2018 को ही उन्हें इंस्टीट्यूट की सेवाओं से निरस्त कर दिया गया जब उन्होंने खुद अपनी इस्तीफा सौंप दिया था. वहीं इंस्टीट्यूट ने फैसला किया है कि मेहता को संस्थान के किसी भी अकादमिक कार्यवाही के साथ नहीं जोड़ा जाएगा. दरअसल संस्थान के छात्रों के एक ग्रुप ने वरिष्ठ शिक्षक कृष्णेश मेहता पर आरोप लगाया था कि वह क्लास लेने के दौरान सेक्स और यौन संबंधों के बारे में आउट ऑफ स्लेबस जाकर बात करते थे. उनकी हरकते भी सही नहीं थीं.

शिक्षक कृष्णेश मेहता के खिलाफ कई सारे सबूत थे

इंस्टीट्यूट के प्रबंधन के अनुसार मेहता के खिलाफ यह दूसरी शिकायत थी. इंस्टीट्यूट की इंक्वायिरी कमिटी ने बताया कि मेहता के खिलाफ कई सारे सबूत थे. वहीं मेहता ने खुद भी अपना अपराध कबूल किया था और उसके लिए माफी मांगी थी. उन्होंने खुद से इस्तीफा सौंपा जिसे स्वीकार कर लिया गया. इस मामले में एनआईडी के डायरेक्टर प्रद्युम्न व्यास ने बताया कि मेहता के खिलाफ हुई दोनों शिकायतों में कहीं भी शारीरिक यौन शोषण की बात नहीं की गई है. वह केवल यौन संबंध से जुड़ी बातचीत छात्रों के साथ करते थे. फिलहाल उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया है और कबूल किया है कि उनसे गलती हुई है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi