S M L

अपने बच्चों का खयाल रखें, ताकि वो आतंकी बनकर मौत का रास्ता ना चुनें: महबूबा मुफ्ती

मुख्यमंत्री ने कहा, मैं देश-प्रदेश के लोगों और भारत सरकार से कश्मीर के युवकों को बचा लेने की अपील करती हूं

Updated On: May 07, 2018 02:39 PM IST

FP Staff

0
अपने बच्चों का खयाल रखें, ताकि वो आतंकी बनकर मौत का रास्ता ना चुनें: महबूबा मुफ्ती
Loading...

कश्मीर में पांच निर्दोष लोगों की हत्या के एक दिन बाद मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कश्मीरी लोगों से अनुरोध किया कि वे अपने बच्चों का खास ध्यान रखें ताकि वे आगे चलकर आतंकवादी न बनें और मौत का रास्ता न चुनें.

श्रीनगर में अगले छह महीने के लिए राजधानी स्थानांतरित होने पर आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मुफ्ती ने कहा, हमारे जवान और बच्चे मारे जा रहे हैं. गरीबों के हाथ में पत्थर हैं, गरीबों (जवान) के ही हाथ में बंदूक भी हैं. इन्हें बचाने के लिए हमें बीच का रास्ता निकालना होगा. रिपोर्टरों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा, पिछले दिन जो कुछ हुआ, वह काफी दुखद है. मैं देश-प्रदेश के लोगों और भारत सरकार से कश्मीर के युवकों को बचा लेने की अपील करती हूं.

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के आला कमांडर और यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर सहित पांच आतंकियों की मौत हो गई थी. मुठभेड़ स्थल के पास प्रदर्शनकारियों और कानून एजेंसियों के बीच झड़प में पांच लोग भी मारे गए थे. ‘दरबार मूव’ प्रथा के तहत सिविल सचिवालय के कार्यालय के कामकाज शुरू करने के दौरान महबूबा ने कहा, मैं केंद्र सरकार से इस खूनी खेल को रोकने के लिए कोई रास्ता तलाश करने की अपील करती हूं.’ उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लोगों, खासकर मां-बाप से जिंदगी की कद्र करने की भी अपील की.

मुफ्ती ने कहा, ‘अल्लाह ने आपको जिंदगी जीने के लिए बख्शी है ...18 या 19 साल की उम्र में मौत को गले लगाने के लिए नहीं.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक मुद्दों को राजनीतिक हस्तक्षेप की जरूरत है. महबूबा ने कहा, ‘मैं युवकों से अपील करना चाहूंगी कि समाज के लिए उनकी ऊर्जा, जवानी, सपने और आकांक्षाएं कब्रिस्तानों में पड़े उनके शवों से कई अधिक अहम है और मायने रखती है.’

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi