S M L

आज देशभर में मेडिकल स्टोर्स बंद, ऑनलाइन फार्मेसी के खिलाफ है हड़ताल

ये हड़ताल दवाइयों की ऑनलाइन बिक्री और ई-फार्मेसी पर कानून बनाने में हो रही देरी देरी के खिलाफ है

Updated On: Sep 28, 2018 01:30 PM IST

FP Staff

0
आज देशभर में मेडिकल स्टोर्स बंद, ऑनलाइन फार्मेसी के खिलाफ है हड़ताल

देश भर की मेडिकल दुकानें शुक्रवार को बंद हैं. ये हड़ताल दवाइयों की ऑनलाइन बिक्री और ई-फार्मेसी पर कानून बनाने में हो रही देरी देरी के खिलाफ है. इस हड़ताल में देशभर के लगभग साढे़ आठ लाख दुकानदार अपनी दुकानें बंद रखेंगे.

दरअसल सरकार ने ई-फॉर्मेसी को मान्यता दी है और वो ऑनलाइन दवा की बिक्री को नियमित करना चाहती है, जिसके खिलाफ ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स (एआईओसीडी) ने एक दिवसीय बंद का आह्वान किया है.

दरअसल, सरकार का मानना है कि ई-फार्मेसी समय की मांग है. सरकार इस ऑनलाइन दवाइयों के बाजार का नियमन करने के लिए ई-फार्मेसी कानून लाने वाली है. ऑनलाइन दवा कंपनियों ने नियमन कानून की बात का तो समर्थन किया है लेकिन मेडिकल स्टोर के दुकानदारों का विरोध जारी है.

दुकानदारों की आपत्ति दवा की पर्ची और दवाई के मिलान पर भी है. दूसरे जाहिर है कि ऑनलाइन दवा बिक्री से उनके व्यापार पर असर बढ़ा है. उनका कहना है कि ई-फार्मेसी से उनके बिजनेस पर खतरा पैदा हो गया है. साथ ही उन्होंने इससे दवाओं के दुरुपयोग के जोखिम पैदा होने की बात भी कही है. दवा दुकानदारों की आपत्ति साइकोट्रॉपिक यानी नशीली दवाओं की बिक्री पर भी है, जबकि प्रस्तावित कानून में ऐसी दवाओं की ऑनलाइन बिक्री पर रोक है.

ऑनलाइन कंपनियां अपने बिजनेस के लिए कई तरह की व्यवस्था मुहैया कराने का दावा कर रही हैं. उनके मुताबिक, वो हर बात का ख्याल रखती हैं.

लेकिन देश भर में मेडिकल की दुकानें विरोध में बंद हैं. पिछले वक्त में ऑनलाइन दवाइयां बेचने वाली कंपनियों की संख्या बढ़ी भी है. साथ ही लोगों ने दवाई खरीदने जैसे संवेदनशील मामले में भी ऑनलाइन खरीददारी पर भरोसा जताना शुरू कर दिया है.

देखना है कि ई-कॉमर्स की पैरवी कर रही सरकार इस विरोध के बीच क्या रास्ता निकालती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi