S M L

NRC मसले समेत माल्या, नीरव मोदी और चोकसी के प्रत्यर्पण पर विदेश मंत्रालय ने क्या कहा!

नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर विदेश मंत्रालय ने कहा, ईडी के निवेदन पर इस मामले को 3 अगस्त को यूके सेंट्रल अथॉरिटी को भेज दिया गया है

Updated On: Aug 09, 2018 05:14 PM IST

FP Staff

0
NRC मसले समेत माल्या, नीरव मोदी और चोकसी के प्रत्यर्पण पर विदेश मंत्रालय ने क्या कहा!

नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) द्वारा हाल ही में जारी की गई लिस्ट पर मचे हंगामें के बीच विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया है. विदेश मंत्रालय ने कहा, हम बांग्लादेश सरकार से संपर्क में हैं. हमने उन्हें सुनिश्चित किया है कि यह अभी तक केवल एक मसौदा है, इस लिस्ट को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बनाया गया है और असम के लोगों की पहचान प्रक्रिया जारी है.

मंत्रालय ने कहा कि बांग्लादेश सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि चल रही प्रक्रिया भारत का आन्तरिक मामला है. इसलिए हम बांग्लादेश से हमारे बेहतर रिश्तों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ने देंगे. वहीं मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर गृह मंत्रालय ने कहा कि हमने एंटीगा और बरबुडा के विदेश मंत्रालय से 3 अगस्त को प्रत्यर्पण अनुरोध किया है.हमें इंतजार करना पड़ेगा.

नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर विदेश मंत्रालय ने कहा, 'ईडी के निवेदन पर इस मामले को 3 अगस्त को यूके सेंट्रल अथॉरिटी को भेज दिया गया है. यह ईडी के दो रेड कॉर्नर नोटिस पर आधारित है, इस मामले में हम ब्रिटिश सरकार के जवाब का इंतजार कर रहे हैं.'

वहीं विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम माल्या को भारत लाने के लिए पूरा प्रयास करेंगे, यह मामला वेंस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट लंदन में चल रहा है. इसकी अगली सुनवाई 12 सितंबर 2018 को होनी है.

10 अगस्त को होने वाले खालिस्तानी प्रदर्शन के मामले में विदेश मंत्रालय ने कहा कि लंदन में कार्यक्रम आयोजित करना एक अलगाववादी गतिविधि है, जोकि भारत की क्षेत्रीय अखंडता पर प्रभाव डालता है. यह हिंसा और घृणा का प्रचार करना चाहता है, आशा करते हैं कि वह हमारे रिश्तों को ध्यान में रखेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi