S M L

हिंसक हुआ मराठा आंदोलन, दो लोगों ने की खुदकुशी की कोशिश

नौकरी और शिक्षा में मराठा समुदाय को आरक्षण देने की मांग को लेकर महाराष्ट्र में चल रहा प्रदर्शन हिंसक हो गया है

Updated On: Jul 24, 2018 05:14 PM IST

FP Staff

0
हिंसक हुआ मराठा आंदोलन, दो लोगों ने की खुदकुशी की कोशिश

महाराष्ट्र में मराठा संगठनों ने मंगलवार को बंद का आह्वान किया है. दरअसल सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर बुलाए गए बंद में औरंगाबाद में दो युवकों ने आत्महत्या करने की कोशिश की है. वहीं सोमवार को एक व्यक्ति ने औरंगाबाद में नदी में कूद कर जान दे दी थी. आरक्षण की मांग को लेकर शुरू यह आंदोलन हिंसक होते जा रहा है. जिले में स्कूल कॉलेज बंद कर दिया गया है और इंटरनेट सेवाएं भी रोक दी गईं हैं.

नौकरी और शिक्षा में मराठा समुदाय को आरक्षण देने की मांग को लेकर महाराष्ट्र में चल रहा प्रदर्शन हिंसक हो गया है. औरंगाबाद में दो युवकों ने आत्महत्या की कोशिश की है. जानकारी के अनुसार जयंत सोनावने, गुड्डू सोनावने ने नदी में कूदकर आत्महत्या की कोशिश की. दोनों घटनाएं औरंगाबाद के देवगांव रंगारी की हैं. दोनों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

आरक्षण की मांग कर रहे मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने सिर मुंडवाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया.

वहीं औरंगाबाद के गंगापुर में मराठा क्रांति मोर्च के सदस्यों ने ट्रक को भी आग के हवाले कर दिया. यह आंदोलन लगातार हिंसक होते जा रहा है. आरक्षण की मांग करने वाले एक मराठा नेता ने कहा कि उन्होंने पूरे राज्य में बंद का आह्वान किया है और जब तक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस समुदाय से माफी नहीं मांग लेते यह विरोध जारी रहेगा.

आरक्षण की मांग करने वाले मराठा समूह के संयोजक रविंद्र पाटिल ने बताया कि जब तक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मराठा समुदाय से माफी नहीं मांग लेते हम अपना प्रर्दशन जारी रखेंगे. हम औरंगाबाद और राज्य के अन्य हिस्सों में बंद रखेंगे. कुछ मराठा समूहों ने भविष्य में मुंबई में भी प्रदर्शन करने की योजना बनाई है. पुलिस ने बताया कि औरंगाबाद जिले के कायगांव निवासी 27 वर्षीय काकासाहब शिंदे एक पुल से गोदावरी नदी में कूद गया था. उसे नदी से निकालकर अस्पताल ले जाया गया लेकिर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

यह घटना ऐसे समय में हुई है जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पंढरपुर के मंदिर की मंगलवार की अपनी यात्रा मराठा संगठनों की इस धमकी के बाद स्थगित कर दी कि वे कार्यक्रम में बाधा पहुंचाएंगे. शिंदे की मौत के बाद महाराष्ट्र के कई हिस्सों में नए सिरे से प्रदर्शन शुरू हो गया है और विपक्ष के नेताओं ने बीजेपी नीत राज्य सरकार पर ठीकरा फोड़ने की कोशिश की है. शिवसेना लीडर सुभाष देसाई ने कहा, 'महाराष्ट्र रिजर्वेशन में देर हुई है. कोर्ट इसमें क्या प्रतिक्रिया देगा यह भी ध्यान रखना होगा. शिवसेना मराठा रिजर्वेशन को सपोर्ट करता है. जिन लोगों ने रिजर्वेशन का वादा किया था उन्हें सामने आना चाहिए.'

मराठा आरक्षण की मांग कर रही मराठा क्रांति समाज ने कहा है कि बुधवार को वह शांतिपूर्ण बंद करेंगे. थाणे, नवी मुंबई और रायगढ़ में बुधवार 25 जुलाई को बंद रहेगा. स्कूल और कॉलेजों को बंद में शामिल नहीं किया गया है क्योंकि हमारा इरादा किसी को परेशान करना नहीं है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi